Thursday, September 1, 2022

सिलेबस से बाहर के प्रश्न हैं लिखकर छात्रों ने खाली छोड़ी आंसरशीट, MA हिन्दी की परीक्षा निरस्त

 

सिलेबस से बाहर के प्रश्न हैं लिखकर छात्रों ने खाली छोड़ी आंसरशीट, MA हिन्दी की परीक्षा निरस्त

 

प्रो. राजेंद्र सिंह (रज्जू भय्या) राज्य विश्वविद्यालय की सत्र 2021-22 की परीक्षा के दौरान बुधवार को एमए प्रथम वर्ष द्वितीय सेमेस्टर हिन्दी साहित्य के प्रश्नपत्र में पाठ्यक्रम से बाहर के प्रश्न पूछे जाने पर बुधवार को हंगामा हो गया। गलती पता चलने पर विश्वविद्यालय प्रशासन ने परीक्षा निरस्त करते हुए चार सितंबर को दोबारा कराने का निर्णय लिया है। कुलपति प्रो. अखिलेश कुमार सिंह ने परीक्षा निरस्त करने की पुष्टि की है।

महिला सेवा सदन डिग्री कॉलेज बैरहना में दो से चार बजे की दूसरी पाली में एमए प्रथम वर्ष द्वितीय सेमेस्टर हिन्दी साहित्य की परीक्षा देने पहुंचे ठाकुर हर नारायण सिंह डिग्री कॉलेज करेलाबाग के छात्रों ने प्रश्नपत्र में पाठ्यक्रम से बाहर के प्रश्न पूछे जाने पर जमकर हंगामा किया। दर्जनों छात्रों ने उत्तरपुस्तिका के ऊपर 'पाठ्यक्रम से बाहर के प्रश्न हैं' लिखकर पूरी कॉपी खाली छोड़ दी। 

बोर्ड परीक्षा: 12 वीं के एग्जाम कब होंगे और क्या होगा पैटर्न, जानिए क्या  बोले शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे - 12th ke board exam kb honge aur kya hoga  pattern education minister

सूर्य प्रताप, शुभम पांडेय, अजय शाक्य, शिवम गौतम, दीपांशु मल्होत्रा, अनिमेष अवस्थी, अंबरीष, संतोष मिश्रा, सत्यजीत सिंह, श्रुति, अल्का, फराह, रेखा, सलोनी और निधि आदि का कहना है कि प्रश्नपत्र के प्रथम खंड में तीन और द्वितीय में एक प्रश्न पाठ्यक्रम से था। तृतीय खंड में एक भी प्रश्न कोर्स से नहीं पूछा गया था। नाराज छात्र चार बजे परीक्षा खत्म होने के एक घंटे बाद तक केंद्र पर डटे रहे और विश्वविद्यालय के जिम्मेदार लोगों से मिलने की मांग कर रहे थे। हालांकि कोई सकारात्मक जवाब न मिलने पर लौट गए। गौरतलब है कि तकरीबन दो दर्जन केंद्रों पर आयोजित एमए हिन्दी साहित्य की परीक्षा में सैकड़ों छात्र-छात्राएं शामिल हुए थे। 

 

 

प्रो. राजेंद्र सिंह (रज्जू भय्या) राज्य विश्वविद्यालय की परीक्षा के दौरान बुधवार को उड़ाका दलों ने औचक निरीक्षण में कुल 26 परीक्षार्थियों (22 छात्र व 04 छात्राएं) को नकल करते हुए पकड़ा। परीक्षा दो पालियों में प्रयागराज, कौशाम्बी, फतेहपुर, प्रतापगढ़ जिले के 141 केन्द्रों पर कराई गई। दोनों पालियों में कुल 43742 परीक्षार्थीं पंजीकृत थे जिनमें से 546 अनुपस्थित रहे।

कुलपति प्रो. अखिलेश कुमार सिंह ने कहा, 'एमए हिन्दी साहित्य के प्रश्नपत्र में पाठ्यक्रम से बाहर से प्रश्न होने की शिकायत पर यह परीक्षा निरस्त कर दी गई है। सम सेमेस्टर की परीक्षाएं तीन सिंतबर को खत्म हो रही है और चार सिंतबर को सुबह की पाली में यह परीक्षा कराई जाएगी।'