Tuesday, October 19, 2021

छात्रवृत्ति व फीस भरपाई के आनलाइन आवेदन करने की समय सीमा बढ़ी

 

छात्रवृत्ति व फीस भरपाई के आनलाइन आवेदन करने की समय सीमा बढ़ी

समाज कल्याण विभाग ने कक्षा ग्यारह-बारह, स्नातक, स्नातकोत्तर कक्षाओं तथा मेडिकल, इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट, नर्सिंग जैसे अन्य व्यासायिक पाठ्यक्रमों के गरीब व जरूरतमंद छात्र-छात्राओं के लिए छात्रवृत्ति और फीस भरपाई के लिए आनलाइन आवेदन करने की समय सीमा बढ़ा दी है। इन कक्षाओं व पाठ्यक्रमों में नए दाखिले लेने वाले और अगली कक्षाओं में प्रवेश पाने वाले यह छात्र-छात्राएं 21 अक्तूबर के बजाए 25 अक्तूबर तक आनलाइन आवेदन कर सकेंगे।




प्रमुख सचिव के.रवीन्द्र नायक ने मंगलवार को संशोधित समय सारिणी जारी की है। यह जानकारी विभाग के संयुक्त निदेशक पी.के.त्रिपाठी ने दी है। उन्होंने बताया कि यह संशोधित समय सारिणी अनुसूचित जाति-जनजाति, सामान्य, ओबीसी और अल्पसंख्यक सभी वर्ग के छात्र-छात्राओं के लिए लागू होगी। उन्होंने बताया कि इन कक्षाओं व पाठ्यक्रमों के छात्र-छात्राओं द्वारा आनलाइन आवेदन करने की समय सीमा पहले 21 अक्तूबर तक तय की गई है जिसे अब बढ़ा कर 25 अक्तूबर कर दिया गया है। इसके बाद छात्र-छात्रा द्वारा किए गए आनलाइन आवेदन में हुई त्रुटियों जैसे हाईस्कूल, इण्टर के रोल नम्बर तथा आय, जाति प्रमाण पत्र के क्रमांक और आवेदन के क्रमांक को संशोधित करने और उसे राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र लखनऊ द्वारा छात्रवृत्ति के पोर्टल पर स्टूडेण्ट सेक्शन में प्रदर्शित करने के लिए छात्र-छात्रा द्वारा आनलाइन आवेदन पूरे करने और फाइनल प्रिण्ट आउट निकालने से तीन कार्य दिवसों का समय तय किया गया था, जिसे अब दो कार्य दिवस कर दिया गया है।

आनलाइन आवेदन पत्र की हार्डकापी छात्र-छात्राओं द्वारा सभी जरूरी संलग्नकों सहित शिक्षण संस्था में जमा करने की अंतिम तारीख अब 25 अक्तूबर से बढ़कर 27 अक्तूबर कर दी गयी है। छात्र-छात्रा द्वारा आनलाइन आवेदन पत्र की हार्डकापी व संलग्न दस्तावेजों से छात्र-छात्रा के सभी ब्यौरे का शिक्षण संस्थन द्वारा मिलान करने और आनलाइन आवेदन प्राप्त करने, सत्यापित व अग्रसारित करने की तारीख 28 अक्तूबर ही रहेगी।

इस समय सारिणी में शिक्षण संस्थानों को भी राहत दी गई है। अभी ऐसे कई शिक्षण संस्थान बचे रह गए थे जिनके यहां दाखिले की प्रक्रिया, मान्यता या सम्बद्धता का नवीनीकरण आदि की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पायी थी। अब ऐसे संस्थानों को भी मोहलत दी गयी है। सारिणी के अनुसार प्रदेश में स्थित मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थानों द्वारा मास्टर डेटा बेस में शामिल होने के लिए आवेदन करने की कार्यवाही शिक्षा विभाग के जरिए किए जाने, जिला समाज कल्याण अधिकारी से पासवर्ड प्राप्त करने, नई संस्थाओं और मास्टर डाटा में सम्पूर्ण सूचनाएं भरकर अपलोड कर डिजिटल हस्ताक्षर से प्रमाणित करने, सभी संस्थाओं के पाठ्यक्रम का प्रकार, पाठ्यक्रम वार कुल सीटों की संख्या, सक्षम स्तर से तय शुल्क, पाठ्यक्रमवार पूर्णांक, ऐफिलियेटिंग एजेंसी, विश्वविद्यालय के नाम आदि सूचनाओं को अंकित करने, अपडेट करके डिजिटल हस्ताक्षर से प्रमाणित करने की समय सीमा जो पहले 17 सितम्बर से 27 सितम्बर तक थी अब उसे बढ़ाकर 19 अक्तूबर से 21 अक्तूबर तक कर दिया गया है।