Thursday, September 30, 2021

असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए पीएचडी की अनिवार्यता खत्म

 असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए पीएचडी की अनिवार्यता खत्म 


नई दिल्ली  केंद्रीय विश्वविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर पद पर नियुक्ति के लिए पीएचडी की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है। इसका मतलब है कि अब बिना पीएचडी की डिग्री वाले छात्र भी इस पद के लिए आवेदन कर सकेंगे। हालांकि यह राहत सिर्फ इसी सत्र के लिए दी गई है।



केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बुधवार को पत्रकारों को बताया कि छात्रों ने उनसे इसमें राहत की मांग की थी। उनका कहना था कि दो साल से चल रहे कोरोना संकट के चलते उनकी पीएचडी पूरी नहीं हो पाई है। छात्रों के हितों को देखते हुए यह फैसला लिया गया है। यह राहत उन्हें सिर्फ इसी सत्र के लिए दी गई है। मौजूदा समय में देशभर के केंद्रीय विश्वविद्यालयों में शिक्षकों के करीब 6.300 पद खाली हैं।