Tuesday, August 10, 2021

DSSSB Teacher Recruitment : डीएसएसएसबी अब अभ्यर्थियों की मेरिट के साथ ही प्रतीक्षा सूची भी जारी करेगा

 

DSSSB Teacher Recruitment : डीएसएसएसबी अब अभ्यर्थियों की मेरिट के साथ ही प्रतीक्षा सूची भी जारी करेगा




DSSSB Teacher Recruitment : दिल्ली अधीनस्थ सेवा चयन बोर्ड (डीएसएसएसबी) अब प्रतियोगी परीक्षों की मेरिट के साथ ही प्रतीक्षा सूची भी जारी करेगा। डीएसएसएसबी की तरफ से आयोजित होने वाली प्रतियोगी परीक्षा प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए दिल्ली सेवा विभाग ने पुराने नियमों में संशोधन कर नियम तैयार किए हैं। डीएसएसएसबी की तरफ से प्रस्तावित इन बदलावों को उपराज्यपाल ने मंजूरी दे दी है।

कुल विज्ञापित पदों के 20% अभ्यर्थियों के नाम प्रतीक्षा सूची में होंगे जारी
डीएसएसएसबी भर्ती प्रक्रिया के परिणाम जारी करने की नई नीति के तहत परीक्षा पास करने वाले सभी अभ्यर्थी चयनित/रिजर्व पैनल में रहेंगे। साथ ही परीक्षा परिणाम की मुख्य मेरिट के साथ ही प्रतीक्षा सूची जारी होगी। प्रतीक्षा सूची कुल विज्ञापित पदों की 20 फीसदी क्षमताके साथ जारी होगी। प्रतीक्षा सूची की वैधता एक साल होगी। डीएसएसएसबी की नई नीति के तहत अब मेरिट में स्थान पाए अभ्यर्थियों के साथ-साथ प्रतीक्षा सूची में स्थान पाए अभ्यर्थियों के डोजियर भी विभागों को भेजे जाएंगे। ऐसी स्थिति में अगर मेरिट में सफल अभ्यर्थी किसी वजह से नियुक्ति के प्रस्ताव को स्वीकार नहीं करता है, नियुक्ति नहीं लेता या एक साल में त्यागपत्र दे देता है और अभ्यर्थी के पात्र नहीं होने जैसी स्थिति में प्रतीक्षा सूची के आधार पर विज्ञापित पदों को भरा जाएगी।

डीएसएसएसबी अभ्यथिर्यों को पता होगी अपनी रैंक:
डीएसएसएसबी ने मेरिट और प्रतीक्षा सूची को लेकर वर्ष 2019 में नीति तैयार की थी। जिसके तहत डीएसएसएसबी मेरिट के साथ कुल विज्ञापित पदों के 10 फीसदी संख्यां के साथ प्रतीक्षा सूची तो बनाता था, लेकिन वह जारी नहीं करता था। डीएसएसएसबी शिक्षक भर्ती प्रक्रिया के अभ्यर्थी रहे शम्सुद्दीन के मुताबिक प्रतीक्षा सूची के सार्वजनिक नहीं होने से अभ्यर्थियों को उनकी रैंक/सिलेक्शन के बारे में पता नहीं चल पाता था। अभ्यर्थियों को अक्सर प्रतीक्षा सूची में शामिल हाेने की जानकारी तब मिलती, जब मेरिट में सफल अभ्यर्थी नियुक्ति नहीं लेता था और एक साल के अंदर विभाग डोजियर डीएसएसएसबी वापस भेजता था। तब डीएसएसएसबी प्रतीक्षा सूची में शामिल अभ्यर्थी का परिणाम दोबारा जारी करता था। इन हुए नए बदलावों से भर्ती प्रक्रिया में पारदर्शिता आएगी और प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल होने वाले अभ्यर्थियों को मेरिट में अपनी सटीक रैंकिंग की जानकारी हो सकगी।