Thursday, August 12, 2021

CCSU : 15 नए विषयों में स्नातक कोर्स की पढ़ाई इसी साल से

 

CCSU : 15 नए विषयों में स्नातक कोर्स की पढ़ाई इसी साल से




नई शिक्षा नीति (एनईपी) के तहत चौ. चरण सिंह विवि कैंपस में 15 विषयों में स्नातक की पढ़ाई इसी साल से शुरू होगी। कुलपति प्रो. एनके तनेजा की अध्यक्षता में हुई एकेडमिक काउंसिल की बैठक में साइंस और आर्ट्स स्ट्रीम में यूजी कोर्स एवं इसमें सीटों पर मुहर लग गई। साइंस और आर्ट्स स्ट्रीम में क्रमश: सात एवं आठ विषयों में यूजी चलेगा। अभी तक कैंपस में ऑनर्स में बीए हिन्दी, अर्थशास्त्र, बीकॉम और बीएससी केमेस्ट्री कोर्स चल रहे थे, लेकिन इसी सत्र से स्नातक स्तर पर बाकी विषयों में भी प्रवेश होंगे।

स्नातक में ये कोर्स चलेंगे कैंपस में
साइंस स्ट्रीम में भौतिक विज्ञान, सांख्यिकी, रसायन विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, जन्तु विज्ञान एवं अर्थशास्त्र रखे गए हैं। इसमें वनस्पति एवं जंतु विज्ञान में 20-20, अर्थशास्त्र में दस और बाकी विषयों में 30-30 सीट रहेंगी। आर्ट्स स्ट्रीम में अंग्रेजी, इतिहास, हिन्दी, राजनीति विज्ञान, मनोविज्ञान, संस्कृत, समाजशास्त्र और अर्थशास्त्र विषय रहेंगे। इसमें मनोविज्ञान, संस्कृत और अर्थशास्त्र में 20-20 जबकि बाकी में 30-30 सीटों पर प्रवेश होंगे। साइंस एवं आर्ट्स स्ट्रीम के स्नातक में प्रवेश लेने वाले छात्रों को विषय समूह से किसी एक को चुनना होगा।

कौशल विकास और एनसीसी भी शुरू
विवि ने कैंपस और कॉलेजों मे कौशल विकास औार एनसीसी के कोर्स को भी स्वीकार कर दिया है। एनसीसी में 12 क्रेडिट होंगे। कौशल विकास में ऐसे कोर्स पढ़ाए जाएंगे, जो छात्रों को रोजगार के लिए तैयार करे। 


दो विषयों का सिलेबस पर मुहर
विवि ने कैंपस में एनवायरमेंट स्टडीज और बीएससी कंप्यूटर साइंस ऑनर्स के कोर्स को एप्रूव कर दिया है। विवि के अनुसार, स्नातक में जिन कोर्स में अभी तक बीओएस नहीं हो पाई है, उन सभी में राज्य स्तरीय न्यूनतम समान पाठ्यक्रम को माना जाएगा। ऐसे विषयों में अब बीओएस की जरुरत नहीं होगी। विवि ने समस्त कॉलेजों के लिए नए परिनियमों को भी हरी झंडी दे दी है। इसके दायरे में अल्पसंख्यक कॉलेज भी आएंगे। 

नए नियमों से नियुक्ति, 40 नंबर का एंट्रेंस, निगेटिव मार्किंग भी
विवि ने कैंपस में असिस्टेंट प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और प्रोफेसर पद पर नियुक्ति के लिए राजभवन के नए नियमों को स्वीकार कर लिया। असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए 40 नंबर की लिखित परीक्षा होगी। इसमें निगेटिव मार्किंग रहेगी। एक पद पर दस और दो पद होने पर 15 आवेदकों को बुलाया जाएगा। एसोसिएट प्रोफेसर और प्रोफेसर पद पर स्क्रीनिंग दो स्तर पर होगी। आवेदकों के एपीआई स्कोर वेबसाइट पर सार्वजनिक करते हुए आपत्ति मांगी जाएगी। इंटरव्यू और एकेडमिक के लिए भी नए नियमों से अंक मिलेंगे। विवि जल्द ही कैंपस में 18 पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर देगा।