Tuesday, August 31, 2021

इलाहाबाद विश्वविद्यालय : बीए में दाखिले लेने वाले छात्रों के लिए अच्छी खबर

 

इलाहाबाद विश्वविद्यालय : बीए में दाखिले लेने वाले छात्रों के लिए अच्छी खबर



इलाहाबाद विश्वविद्यालय में बीए में दाखिले लेने वाले छात्रों के लिए अच्छी खबर है। शैक्षिक सत्र 2021-22 में छात्रों को 100 विषय का कॉम्बिनेशन मिलेगा। इस साल स्नातक में समाजशास्त्र विषय को भी शामिल किया गया है। समाजशास्त्र विषय की वजह से 4 सब्जेक्ट कॉम्बिनेशन बढ़ गए हैं। पिछले शैक्षिक सत्र में 96 के कॉम्बिनेशन पर प्रवेश हुआ था।

नए सत्र में दाखिले की प्रक्रिया की तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है। जल्द ही प्रवेश के लिए नोटीफिकेशन जारी कर ऑनलाइन आवेदन लिए जाने की तैयारी है। इविवि के प्रवेश प्रकोष्ठ के निदेशक प्रो. आईआर सिद्दीकी ने बताया कि कुलपति प्रो. संगीता श्रीवास्तव की संस्तुति मिलने के बाद प्रवेश प्रक्रिया पिछले साल की तर्ज पर कराने की तैयारी है। 

क्रेट के आवेदन में होगा विलंब: नए शैक्षिक सत्र में स्नातक, परास्नातक, प्रोफेशनल और विधि पाठ्यक्रम के लिए आवेदन जल्द लिए जाएंगे। वहीं, संयुक्त शोध प्रवेश परीक्षा (क्रेट 2021) के लिए आवेदन में विलंब होगा क्योंकि प्रवेश प्रकोष्ठ की ओर से अभी तक विभाग एवं कॉलेजों से रिक्त सीटों का ब्यौरा ही नहीं मागा गया है। प्रो. आईआर सिद्दीकी ने बताया कि यूजी, पीजी, विधि और प्रोफेशनल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू होने के बाद क्रेट सीटों का ब्योरा मांगा जाएगा। इसके बाद आवेदन शुरू होगा। 


न्यूनतम अंक की बाध्यता समाप्त करने की तैयारी
इविवि में इस बार स्नातक, परास्नातक, प्रोफेशनल, विधि आदि पाठ्यक्रमों में प्रवेश परीक्षा में न्यूनतम अंक पाने की बाध्यता को समाप्त करने की तैयारी है। इससे पूर्व 11 अप्रैल 2017 में तत्कालीन कुलपति प्रो. आरएल हांगलू की अध्यक्षता में हुई एकेडमिक काउंसिल की बैठक में शैक्षिक गुणवत्ता में सुधार के लिए स्नातक, परास्नातक, विधि सहित सभी पाठ्यक्रमों की प्रवेश परीक्षा में सामान्य परीक्षार्थियों के लिए 30 और ओबीसी के लिए 27 प्रतिशत अंक लाना अनिवार्य कर दिया गया था। इसके बाद शैक्षिक सत्र 2020 में न्यूनतम अंक की बाध्यता समाप्त कर दी गई थी। इस बार भी पुराने तर्ज पर ही प्रवेश प्रक्रिया कराने की तैयारी है।

ईसीसी में नए शैक्षिक सत्र का आगाज कल से 
यूइंग क्रिश्चियन कॉलेज (ईसीसी) इलाहाबाद विश्वविद्यालय का एक संगठक महाविद्यालय है, लेकिन स्वायत्त कॉलेज होने के कारण वह कक्षा, परीक्षा एवं प्रवेश परीक्षा स्वयं कराता है। नए शैक्षिक सत्र का आगाज एक सितंबर से होगा। इसमें स्नातक (बीए, बीएसससी, बीकॉम) द्वितीय एवं तृतीय वर्ष की कक्षाएं ऑनलाइन मोड में चलेंगी। इसके लिए कॉलेज प्रशासन की ओर से नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है। वहीं, नव प्रवेशी छात्रों की कक्षाएं आठ अक्तूबर से शुरू होंगी। कॉलेज में स्नातक पाठ्यक्रम भी सेमेस्टर सिस्टम में संचालित होते हैं।