Tuesday, August 17, 2021

यूपी बोर्ड : कक्षा 9 की अर्द्धवार्षिक परीक्षा नए पैटर्न पर होगी

 

यूपी बोर्ड : कक्षा 9 की अर्द्धवार्षिक परीक्षा नए पैटर्न पर होगी





वर्तमान सत्र में कक्षा 9 की लिखित अर्द्धवार्षिक एवं वार्षिक परीक्षा प्रश्नपत्र के नये प्रारूप के आधार पर होगी। प्रश्नपत्र में दो खंड होंगे। पहले खंड में पूर्णांक के 30 प्रतिशत अंकों के बहुविकल्पीय प्रश्न तथा दूसरे खंड में पूर्णांक के 70 प्रतिशत अंकों के वर्णनात्मक प्रश्न होंगे।

कैंलेडर में यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं मार्च 2022 के अंतिम सप्ताह में प्रस्तावित की गई हैं। सचिव यूपी बोर्ड दिव्यकांत शुक्ल की ओर से 14 अगस्त को जारी 2021-22 के शैक्षणिक कैलेंडर में खास यह कि 10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राओं को तीन बार प्रायोगिक परीक्षा देनी होगी। कोरोना काल में परिणाम तैयार करने में हुई कठिनाई को देखते हुए इस बार गृह परीक्षा से लेकर बोर्ड परीक्षा तक में कई अहम बदलाव किए गए हैं। 
विभिन्न कक्षाओं में ऑनलाइन और ऑफलाइन शिक्षण कार्य क्रमश: 20 मई व 16 अगस्त से शुरू हो चुका है। 10वीं और 12वीं के छात्रों को नवंबर के द्वितीय सप्ताह में अर्द्धवार्षिक परीक्षा की प्रयोगात्मक परीक्षा देनी होगी। 24 से 31 जनवरी तक प्री बोर्ड की प्रयोगात्मक परीक्षाएं होंगी जबकि फरवरी के चौथे सप्ताह में बोर्ड की प्रयोगात्मक परीक्षाएं प्रस्तावित हैं।

नवंबर के तीसरे सप्ताह में अर्द्धवार्षिक लिखित परीक्षा होगी जो कि मासिक शैक्षिक पंचांग में 15 नवंबर तक सभी विषयों के लिए निर्धारित पाठ्यक्रम के आधार पर होगी। दिसंबर के दूसरे सप्ताह तक छात्र-छात्राओं के प्राप्तांक यूपी  बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड किए जाएंगे। कक्षा 9 से 12 तक सभी कक्षाओं में ऑनलाइन व ऑफलाइन शिक्षण कार्य पूरा किया जाएगा। 

प्री बोर्ड की लिखित परीक्षा और कक्षा 9 व 11 की वार्षिक गृह परीक्षा फरवरी के प्रथम सप्ताह में होगी। प्री बोर्ड और वार्षिक गृह परीक्षा के प्राप्तांक फरवरी के तीसरे सप्ताह में वेबसाइट पर अपलोड किए जाएंगे। 
सप्ताह में दो क्लास हैंड्स ऑन एक्टिविटी की: गणित और विज्ञान विषय के छात्रों को हैंड्स ऑन एक्टिविटीज और एक्सपेरिएंशियल लर्निंग के लिए सप्ताह में दो कक्षाएं निर्धारित की गई हैं। जीवन कौशल (लाइफ स्किल) शिक्षा के लिए भी सप्ताह में दो कक्षा निर्धारित की गई है।


कैलेंडर में खास बातें 
- माह के प्रथम शनिवार को सदनवार सांस्कृतिक गतिविधियां जैसे नृत्य, गीत, वादन, नाटक, चित्रकला आदि  का आयोजन होगा
- दूसरे शनिवार को खेलकूद आधारित सदनवार प्रतियोगिताएं होंगी
- तीसरे शनिवार को पाठ्यसहगामी क्रियाओं जैसे निबंध लेखन, भाषण, वाद-विवाद आदि का  आयोजन
- चौथे शनिवार को किशोर संसद, सांस्कृतिक, पाठ्य सहगामी क्रियाओं पर आधारित सदनवार प्रतियोगिताएं 
- हर 15 दिन में विद्यार्थियों को कॅरियर के प्रति जागरुक करने को उच्चाधिकारियों को बुलाया जाएगा।