Friday, August 13, 2021

एडेड डिग्री कालेजों को मिले 263 प्राचार्य डा.अनुराग टापर: उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने जारी कर दिया परिणाम

 एडेड डिग्री कालेजों को मिले 263 प्राचार्य  डा.अनुराग टापर: उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने जारी कर दिया परिणाम





 प्रयागराज : सूबे के अशासकीय सहायता प्राप्त ;एडेड डिग्री कालेजों में वर्षो से खाली प्राचार्यो के पद जल्द भरे जाएंगे। इसके लिए उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने विज्ञापन संख्या.49 के तहत निकली प्राचार्यो की भर्ती का परिणाम गुरुवार को जारी कर दिया है। भर्ती के कुल 290 पदों के सापेक्ष 263 अभ्यर्थियों का चयन हुआ है। 

डा.अनुराग शुक्ल को पहला स्थान मिला है। दूसरे पर डाण्विजय श्रीवास्तव व तीसरे स्थान पर डाण्सच्चिदानंद शर्मा हैं।इलाहाबाद हाई कोर्ट में इस भर्ती को लेकर 27 अभ्यर्थियों ने याचिका दाखिल की है। इससे आयोग ने साक्षात्कार कराने के बाद उनका परिणाम रोका है। कोर्ट का आदेश आने पर उनका परिणाम जारी किया जाएगा। उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग ने एडेड डिग्री कालेजों में प्राचार्यो की नियुक्ति के लिए पहली बार भर्ती निकाली है। इसके पहले वरिष्ठता के आधार पर प्राचार्यो की नियुक्ति होती थी। आयोग ने 2019 में विज्ञापन संख्या.49 के तहत 290 प्राचार्य पदों की भर्ती निकाली। अभ्यर्थियों से 15 मार्च से 17 अप्रैल तक आनलाइन आवेदन लिए गए। भर्ती में 917 आवेदन हुए थे। प्रयागराज में 29 अक्टूबरए 2020 को हुई लिखित परीक्षा में 743 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। कुल पदों के सापेक्ष 610 अभ्यर्थी साक्षात्कार के लिए सफल हुए थे। प्रथम चरण का साक्षात्कार मार्च में शुरू हुआ। उसी दौरान कोरोना का प्रकोप बढ़ने पर अप्रैल में साक्षात्कार स्थगित करना पड़ा।


इधर स्थिति नियंत्रित होने पर बीती सात जुलाई से साक्षात्कार की प्रक्रिया पुनरू शुरू की गई। आयोग की सचिव डाण्वंदना त्रिपाठी ने बताया कि चयनितों का ब्योरा वेबसाइट व पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है।


पदों की विज्ञापन. 49 के तहत निकली थी भर्ती


टाप टेन चयनित


डाण्अनुराग शुक्ल डाण्विजय श्रीवास्तव डाण्सच्चिदानंद शर्माए डाण्देवेंद्र कुमार सिंहए डाण्ललित मोहन शर्माए डाण्ओम प्रकाश रायए डाण्अशोक कुमार सिंहए डाण्जनार्दन प्रसाद पांडेयए डाण्पीयूष चौहान व डाण्अजय कुमार।


साक्षात्कार खत्म होते ही परिणाम जारी


पहली बार ऐसा हुआ है कि जब साक्षात्कार खत्म होने के कुछ घंटे बाद परिणाम जारी कर दिया गया। प्राचार्य पद के अभ्यर्थियों का साक्षात्कार 12 अगस्त तक चला। उसके तुरंत बाद आयोग की बैठक बुलाकर परिणाम जारी करने का निर्णय लिया गया।