Monday, July 19, 2021

डिग्री से ज्यादा डिप्लोमा होल्डर्स की वैकेंसी, कुल नौकरियों का करीब 33 फीसदी 12वीं के बाद डिप्लोमा वालों के लिए

 

डिग्री से ज्यादा डिप्लोमा होल्डर्स की वैकेंसी, कुल नौकरियों का करीब 33 फीसदी 12वीं के बाद डिप्लोमा वालों के लिए.




कोरोना के बाद बदली परिस्थितियों में देश में डिग्री की तुलना में विशिष्ट योग्यताएं रखने वाले डिप्लोमा होल्डर्स के लिए नौकरियों के ज्यादा मौके पैदा हो रहे हैं। श्रम मंत्रालय के नेशनल करियर सेंटर पोर्टल के आंकड़ों में मौजूद कुल नौकरियों में से करीब 33 फीसदी 12वीं के बाद डिप्लोमा होल्डर्स और 25.5 फीसदी डिग्रीधारकों के लिए वैकेंसी है।

12वीं के बाद डिप्लोमा कर चुके लोगों के लिए कुल 41,380 नौकरियां मौजूद हैं, जिनमें से 26,628 मई महीने की हैं। वहीं 14,751 जून में आई हैं। ग्रेजुएट डिग्री धारकों की बात की जाए तो उनके हिसाब से 32,176 नौकरियां हैं। इसके अलावा सिर्फ 12वीं पास लोगों के लिए 20 फीसदी यानी 26,119 और 10 वीं पास के लिए 10 फीसदी यानी 12,713 वैकेंसी हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक कोरोना के दौर में लोग खास कामों से जुड़े लोगों को नौकरी पर रखना चाह रहे हैं। साथ ही नौकरी देने वालों की कोशिश होती है कि उन पर आने वाला खर्च भी बहुत ज्यादा न हो।

ग्लोबल हंट जॉब कंसल्टेंसी कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर सुनील गोयल ने हिंदुस्तान को बताया कि आजकल सिर्फ बहुत जरूरी भर्तियां ही हो रही हैं। ऐसे में कोई भी कंपनी नए कर्मचारी की ट्रेनिंग पर जब तक बहुच जरूरी न हो खर्च करने की हालत में नहीं है। यही वजह है कि खास योग्यताओं वाले डिप्लोमा होल्डर्स की मांग बढ़ रही है। वो उन कामों में माहिर होते हैं।



सबसे ज्यादा नौकरियां विशिष्ट योग्यताओं से जुड़े कामों के लिए

आंकड़ों के मुताबिक सबसे ज्यादा नौकरियां विशिष्ट योग्यताओं से जुड़े कामों के लिए ही हैं। कुल नौकरियों में से इनकी तादाद 35,647 है। आईटी और कम्युनिकेशंस से जुड़ी 31,411 नौकरियां हैं। कुल नौकरियों की बात की जाए तो पोर्टल पर 30 जून तक एक्टिव 126,315 वैकेंसी है। देश में करीब 1 करोड़ लोगों ने नौकरी पाने के लिए रजिस्ट्रेशन करा रखा है और 1.55 लाख नियोक्ता रजिस्टर्ड हैं जो अलग-अलग क्षेत्रों से जुड़ी नौकरियां देते हैं।


राज्यनौकरियां
उत्तर प्रदेश17,950
उत्तराखंड3,428
बिहार3,973
झारखंड2,233
दिल्ली18,475
हरियाणा9906