Thursday, June 17, 2021

CBSE, ICSE 12th Marking Scheme Live updates : सरकार का सीबीएसई 12वीं रिजल्ट फॉर्मूला SC में मंजूर, जानें 30:30:40 का फार्मूले की खास बातें

 

CBSE, ICSE 12th Marking Scheme Live updates : सरकार का सीबीएसई 12वीं रिजल्ट फॉर्मूला SC में मंजूर, जानें 30:30:40 का फार्मूले की खास बातें








केंद्र ने आज सुप्रीम कोर्ट को बताया कि सीबीएसई 12वीं क्लास के स्टूडेंट्स के मार्क्स का मूल्यांकन के लिए 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षा के नतीजों के आधार पर क्रमश: 30:30:40 का फॉर्मूला अपनाएगी। कोर्ट ने केंद्र सरकार द्वारा पेश 12वीं रिजल्ट फॉर्मूले को स्वीकार कर लिया है।  सीबीएसई के अनुसार 10वीं क्लास, 11वीं क्लास और 12वीं क्लास के परफोर्मेंस के आधार होगा।

1.20: State Board Exams 2021:इन चार राज्यों ने अभी तक रद्द नहीं किए हैं 12वीं के एग्जाम

असम, पंजाब, त्रिपुरा और आंध्र प्रदेश ने अभी तक 12वीं की परीक्षाएं रद्द नहीं की हैं।

1.12:CISCE 12th Results: CISCE बेस्ट तीन साल की पर्फोमेंस को आधार बनाएगी
आईसीएसई ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि वह बेस्ट तीन साल की पर्फोर्मेंस के आधार पर 12वीं के रिजल्ट तैयार करेंगे। वे 10वीं, 11वीं और 12वीं की पर्फोर्मेंस  को देखेंगे।  आईसीएसई स्कूल छह साल के शैक्षणिक रिकॉर्ड को आधार बनाएंगे

12.50: CBSE 12th Results: क्या है यह 30:30:40 का फॉर्मूला
10वीं क्लास की पर्फोरमेंस को 30 फीसदी वेटेज: 30
11वीं क्लास की पर्फोरमेंस को 30 फीसदी वेटेज: 30
12वीं क्लास की पर्फोमेंस को 40 फीसदी वेटेज

12.40:12वीं में यूनिट, टर्म और प्रैक्टिकल परीक्षाओं के मार्क्स के आधार पर मूल्यांकन किया जाएगा।
11वीं के थ्योरी के फाइनल एग्जाम और 10वीं के पांच मुख्य विषयों में से बेस्ट 3 थ्योरी के औसत अंकों से मूल्यांकन
12वीं के इंटरनल असेस्मेंट और प्रैक्टिक के अंक स्कूलों ने सीबीएसई पोर्टल पर पहले ही अपलोड कर दिए हैं।

12.30:ज्यादा जानकारी के लिए यहां देखें

न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति दिनेश माहेश्वरी की पीठ को अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने बताया कि मूल्यांकन के फार्मूले से असंतुष्ट सीबीएसई स्टूडेंट्स को 12वीं कक्षा की परीक्षा देने का मौका दिया जाएगा जो महामारी के हालात में सुधार होने पर कराई जाएगी। कोर्ट ने वेणुगोपाल से सीबीएसई की योजना में विवाद समाधान की व्यवस्था की रूपरेखा पेश करने को कहा ताकि छात्रों की शिकायतों पर सुनवाई की जा सके। वेणुगोपाल ने पीठ को आश्वस्त किया कि छात्रों की किसी भी चिंता के निदान के लिए एक समिति गठित की जाएगी।
 न्यायालय ने कहा कि नतीजों की घोषणा और 12वीं कक्षा की प्रस्तावित परीक्षा कराने के लिए समयसीमा भी स्पष्ट की जाए। न्यायालय ने कहा कि उसने कुछ याचिकाकर्ताओं की दलीलों को भी खारिज कर दिया है कि बोर्ड परीक्षाएं रद्द कराने का फैसला वापस लिया जाना चाहिए। 

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना वायरस महामारी की स्थिति के बीच केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) और काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) की 12वीं कक्षा की परीक्षाएं रद्द कराने का निर्देश देने का अनुरोध करने वाली याचिकाओं पर सुनवाई कर रहा है।