Tuesday, March 9, 2021

UPSSSC ::: वर्ष 2018 में हुई परीक्षा में फर्जीवाड़े की कोशिश करने वाले 136 अभ्यर्थियों के खिलाफ एसआईटी ने दर्ज की एफआईआर , ओएमआर में गड़बड़ी की करी थी कोशिश

UPSSSC ::: वर्ष 2018  में हुई परीक्षा में फर्जीवाड़े की कोशिश करने वाले 136  अभ्यर्थियों के खिलाफ एसआईटी ने दर्ज की एफआईआर , ओएमआर में गड़बड़ी की करी थी कोशिश 




शासन ने उप्र अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की परीक्षा में धांधली के इरादे से 136 अभ्यर्थियों की ओएमआर शीट में गड़बड़ी किए जाने की जांच एसआइटी (विशेष जांच दल) को सौंप दी है। एसआइटी ने मामले में लखनऊ के विभूतिखंड थाने में दर्ज एफआइआर के आधार पर अपना मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

उप्र अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने वर्ष 2018 में ग्राम पंचायत अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी व पर्यवेक्षक समाज कल्याण के पदों पर लिखित परीक्षा कराई थी। परीक्षा 16 जिलों के 572 परीक्षा केंद्रों में संपन्न हुई थी। आयोग को ओएमआर शीट की जांच के दौरान गड़बड़ी मिली थी। 136 अभ्यर्थियों की मूल ओएमआर शीट व कोषागार में सुरक्षित रखी गई ओएमआर शीट की प्रति में अंकों की भिन्नता पाई गई थी। 

इस पर आयोग ने 136 अभ्यर्थियों को परीक्षा से बाहर का रास्ता दिखा दिया था और उनके तीन वर्षों के लिए आयोग की किसी भी परीक्षा में शामिल होने पर रोक लगा दी गई थी। मामले में आयोग के तत्कालीन अनुसचिव की ओर से वर्ष 2019 में लखनऊ के विभूतिखंड थाने में 136 अभ्यर्थियों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज कराई गई थी। मामला कई जिलों से जुड़ा है, इसके चलते अब जांच एसआइटी के हवाले कर दी गई है। अब ओएमआर शीट में गड़बड़ी करने वालों पर एसआइटी का शिकंजा कसेगा।





 👉Download Govt Jobs UP Android App