Wednesday, March 17, 2021

छात्रवृत्ति फॉर्म भरने वाले छात्रों को मिल सकती है बड़ी राहत, समाज कल्याण विभाग ने किया त्रुटि सुधार के लिए मौका देने का अनुरोध

 छात्रवृत्ति फॉर्म भरने वाले छात्रों को मिल सकती है बड़ी राहत, समाज कल्याण विभाग ने किया त्रुटि सुधार के लिए मौका देने का अनुरोध




छात्रवृत्ति और फीस भरपाई की सरकारी सुविधा पाने के लिए किए गए आवेदनों में मामूली त्रुटियों की वजह से लम्बित आवेदनों से परेशान अनुसूचित जाति और सामान्य वर्ग के गरीब व जरूरतमंद छात्र-छात्राओं के लिए एक उम्मीद भरी खबर है। समाज कल्याण विभाग ने शासन को ऐसे छात्र-छात्राओं के आवेदनों की त्रुटियों को दूर कर उनके आवदेन स्वीकृत करने के लिए 22 मार्च तक जिला स्तरीय छात्रवृत्ति स्वीकृति समिति को मोहलत देने का अनुरोध किया है।


अगर शासन से इस बारे में स्वीकृति मिल जाती है तो जिला स्तरीय छात्रवृत्ति स्वीकृति समिति को डाटा लॉक करने की समय सीमा और मिल जाएगी तब लंबित आवेदनों से संबंधित छात्र-छात्राओं के आवेदनों की मामूली त्रुटियां दूर हो सकेंगी।


वित्तीय वर्ष का अंतिम महीना होने की वजह से सभी आवेदक छात्र-छात्राओं के बैंक खातों छात्रवृत्ति व फीस भरपाई की राशि आगामी 25 मार्च तक भेजे जाने की तैयारी है। समाज कल्याण निदेशालय से मिली जानकारी के अनुसार अनुसूचित जाति के कक्षा दस से ऊपर की कक्षाओं और व्यासायिक पाठ्यक्रमों में अध्ययनरत कुल 6, 09, 684 छात्र-छात्राओं के आवेदन सभी स्तरों के परीक्षण में सही पाए गए हैं जबकि कक्षा नौ और दस के अनुसूचित जाति के कुल 2, 80, 850 छात्र-छात्राओं के आवेदनों को स्वीकृति मिल चुकी है।


आवेदन के साथ मांगी गई सभी जरूरी सूचनाएं और प्रमाण सही ढंग से न दिये जाने की वजह से कक्षा दस से ऊपर की कक्षाओं और व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के कुल 2, 53,012 अनुसूचित जाति के छात्र-छात्राओं के आवेदन फंस गये हैं जबकि कक्षा नौ और दस के अनुसूचित जाति के छात्र-छात्राओं के खामियों की वजह से फंसे आवेदनों की संख्या 98,972 है। सामान्य वर्ग के कक्षा दस से ऊपर की कक्षाओं और व्यासायिक पाठ्यक्रमों 4,25, 422 छात्र-छात्राओं के आवेदन परीक्षण में सही पाये गए हैं जबकि 1,83,520 छात्र-छात्राओं के आवेदन त्रुटियों की वजह से फंस गये हैं। कक्षा नौ व दस की कक्षाओं के सामान्य वर्ग के 96, 752 छात्र-छात्राओं के आवेदन स्वीकृत हुए हैं और 25, 698 छात्र-छात्राओं के आवेदन लंबित हैं।


छात्रवृत्ति के आवेदन स्वीकृत न होने की वजह


-55 प्रतिशत से कम उपस्थिति

-आय प्रमाण पत्र संदिग्ध


-जाति का गलत अंकन

-उपस्थिति कम, प्राप्तांक कम


-आधार का सत्यापन नहीं

 


खामियों की वजह से निरस्त हुए आवेदन:


-नैक व एनबीए ग्रेडिंग न होने तथा प्रमाण पत्र सत्यापित न होने व अन्य खामियां

-एस.सी.पोस्ट मैट्रिक-81,882


-एस.सी.प्री मैट्रिक-5,748

-जनरल पोस्ट मैट्रिक-30,883


-जनरल प्री मैट्रिक-3, 578

 

👉Download Govt Jobs UP Android App