Wednesday, March 3, 2021

प्रदेश के उच्च प्राथमिक स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती में रहेगी तकड़ी प्रतिस्पर्धा , चार लाख से अधिक है प्रदेश में उच्च प्राथमिक यूपी टीईटी पास अभ्यर्थी

प्रदेश के उच्च  प्राथमिक स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती में रहेगी तकड़ी प्रतिस्पर्धा , चार लाख से अधिक है प्रदेश में उच्च प्राथमिक यूपी टीईटी पास अभ्यर्थी  


 

एडेड जूनियर हाईस्कूलों में रिक्त शिक्षकों के 1894 पदों की भर्ती प्रक्रिया शुरू है। इसके लिए उच्च प्राथमिक स्तर की शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण होना जरूरी है। प्रदेश की यूपीटीईटी उत्तीर्ण करीब चार लाख से अधिक हैं, जबकि सीटीईटी के अभ्यर्थी अलग से हैं। इसी बीच केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने जनवरी 2021 की सीटीईटी का परिणाम घोषित किया है। इससे दावेदारों की संख्या में और इजाफा हो गया है। 


प्रदेश में हर साल एक व केंद्र की ओर से दो बार शिक्षक पात्रता परीक्षा कराई जाती है। इसमें प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्तर की दो परीक्षाएं होती हैं। अर्हता परीक्षा में उत्तीर्ण अभ्यर्थी ही प्राथमिक व उच्च प्राथमिक स्कूलों की भर्तियों में शामिल हो सकते हैं, इधर उच्च प्राथमिक स्तर की परीक्षा उत्तीर्ण करने वालों को मौका नहीं मिल पा रहा था। हर वर्ष परीक्षा उत्तीर्ण करने वालों की संख्या अधिक रही है। यही वजह है कि सरकार ने यूपीटीईटी 2020 कराने से पहले ही एडेड जूनियर हाईस्कूल भर्ती प्रक्रिया शुरू की है, ताकि सालों से नियुक्ति पाने का इंतजार करने वालों को अवसर मिल सके। 


ज्ञात हो कि इसके पहले वर्ष 2013 में विज्ञान व गणित के 29334 शिक्षकों की भर्ती बेसिक शिक्षा परिषद के उच्च प्राथमिक स्कूलों में हुई थी। भर्ती में पदों की संख्या 1894 ही है लेकिन, एक पद दावेदारों की संख्या कई गुना हो सकती है। वजह, 27 फरवरी को केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने सीटीईटी का परिणाम भी जारी कर दिया है। इसमें सफल होने वालों की संख्या हजारों में है। अर्हता परीक्षा का परिणाम आवेदन शुरू होने से पहले आया है इसलिए सफल अभ्यर्थी आसानी से दावेदार हो सकते हैं। 


👉Download Govt Jobs UP Android App