Friday, March 19, 2021

रेलवे ग्रुप डी भर्ती परीक्षा :: फर्जी अभ्यर्थी ने पास की परीक्षा , दस्तावेजों के सत्यापन के दौरान मामला आया सामने

रेलवे ग्रुप डी भर्ती परीक्षा :: फर्जी अभ्यर्थी ने पास की परीक्षा , दस्तावेजों के सत्यापन के दौरान मामला आया सामने 





उत्तर मध्य रेलवे के रेलवे भर्ती प्रकोष्ठ इलाहाबाद की ग्रुप डी भर्ती में सेंध लगने का मामला सामने आया है। कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (सीबीटी) और शारीरिक दक्षता परीक्षा (पीईटी) पास करने के बाद जो अभ्यर्थी रेलवे भर्ती प्रकोष्ठ में अभिलेख सत्यापन को पहुंचा वह फर्जी निकला।

अभ्यर्थी को डिबार करने की कार्रवाई भर्ती प्रकोष्ठ ने कर दी है। लेकिन इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि भर्ती परीक्षा में सेंधमारी के लिए गिरोह सक्रिय हैं। लेवल वन भर्ती की लिखित परीक्षा में अभ्यर्थी की जगह दूसरे ने परीक्षा दी और बायोमीट्रिक प्रवेश के बावजूद उसे पकड़ा नहीं जा सका। परीक्षा केंद्र में पर्यवेक्षकों की टीम, बायोमीट्रिक प्रवेश, हस्ताक्षर मिलान होने के बावजूद परीक्षा में सेंधमारी करने में फर्जीवाड़ा करने वाला गिरोह नहीं चूका।

केंद्रीयकृत रोजगार सूचना संख्या 02/2018 के तहत रेलवे की लेवल-1 भर्ती प्रक्रिया के अंतर्गत 15 से 19 मार्च तक तीसरा अभिलेख सत्यापन चल रहा है। जिसमें लिखित परीक्षा के चयनित अभ्यर्थियों को बुलाया गया। अभिलेख सत्यापन के दौरान जांच अधिकारी को फरीदाबाद के अभ्यर्थी विपिन कुमार पुत्र कुंवर पाल पर शक हुआ। सत्यापन के दौरान आए अभ्यर्थी के परीक्षा के दौरान बायोमीट्रिक से दिए गए फिंगर प्रिंट में मिलान नहीं हुआ। जिसके बाद फर्जी अभ्यर्थी की पेशी रेल भर्ती प्रकोष्ठ अध्यक्ष के सामने कराई गई। पूछताछ के दौरान फर्जी अभ्यर्थी टूट गया और अपराध लिखित रूप से स्वीकार किया। इसके बाद दोषी अभ्यर्थी को रेलवे की सभी परीक्षाओं से डिबार कर दिया गया।


👉Download Govt Jobs UP Android App