Saturday, March 13, 2021

अब इंजीनियरंग के लिए नहीं होगी पीसीएम विषयो की जरूरत , AICTE ने दाखिला नियमो में किया बदलाव

अब इंजीनियरंग के लिए नहीं होगी पीसीएम विषयो की जरूरत , AICTE ने दाखिला नियमो में किया बदलाव 





ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्नोलॉजिकल एजुकेशन (All India Council for Technical Education, AICTE) ने एक बड़ा फैसला लिया है। इसके मुताबिक इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए अब मैथ्स, फिजिक्स और केमिस्ट्री अनिवार्य विषय नहीं है। AICTE ने इन ने इन विषयों को यूजी इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम बीई और बी.टेक में प्रवेश के लिए वैकल्पिक बना दिया है। इसके मुताबिक अब 12वीं में इन विषयों की बाध्यता को खत्म कर दिया है।

नियमों में संशोधन के अनुसार छात्रों को 14 निम्नलिखित विषयों में तीन में 12वीं पास करना होगा। यह 14 विषय हैं- भौतिकी, गणित, रसायन विज्ञान, कंप्यूटर साइंस, इलेक्ट्रॉनिक्स, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, जीव विज्ञान, जैव प्रौद्योगिकी, टेक्निकल वोकेशनल सब्जेक्ट, एग्रीकल्चर, इंजीनियरिंग, ग्राफिक्स बिजनेस स्टडीज सहित अन्य विषय हैं। इसके तहत 12वीं में इन विषयों से पढ़ाई करने वाले छात्र-छात्राएं भी इंजीनियरिंग के पाठ्यक्रम में दाखिला ले सकते हैं।

इंजीनियरिंग के स्नातक कोर्स में दाखिले के लिए आवेदन करने के लिए छात्रों को 12वीं में कम से कम 45 फीसदी अंकों की जरूरत होगी। इस संबंध में एआईसीटीई के अध्यक्ष अनिल सहस्रबुद्धे ने मीडिया रिपोर्ट में कहा कि नए विषयों के कारण हम चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। कई छात्रों ने सवाल किया कि, जब उन्हें अपने पूरे करियर में केमिस्ट्री का कोई यूज नहीं है तो फिर उन्हें इस विषय का अध्ययन क्यों करना है। इसी तरह कई छात्रों ने जीव विज्ञान का अध्ययन करने की मांग की क्योंकि उन्हें आगे चलकर बॉयोटेक्नोलॉजी में आगे बढ़ाने की है। इसलिए, हम उन छात्रों के लिए एक नई विंडो बना रहे हैं, जिन्होंने या तो गणित या भौतिकी या रसायन विज्ञान नहीं लिया है, लेकिन इंजीनियरिंग में प्रवेश लेना चाहते हैं। ऐसे स्टूडेंट्स के लिए नियमों में संशोधन किया जा रहा है।


 


👉Download Govt Jobs UP Android App