Saturday, March 27, 2021

बेरोजगार हुए युवाओं के लिए सुनहरा मौका, इस योजना के तहत 20 हजार लोगों को मिला स्‍वरोजगार

  बेरोजगार हुए युवाओं के लिए सुनहरा मौका, इस योजना के तहत 20 हजार लोगों को मिला स्‍वरोजगार




 कोरोना काल में बेरोजगार हुए युवाओं को फिर से स्वरोजगार की राह पर दौड़ाने के लिए रोजगार मिशन शुरू किया गया है। मिशन के तहत गांव-देहात के युवाओं को ऋण आदि की सुविधा देकर आगे बढ़ाया जा रहा है। एक मार्च तक विभिन्न विभागों ने युवाओं को स्वरोजगार का अवसर उपलब्ध कराया। जिससे जनपद के करीब 20 हजार युवाओं को स्वरोजगार शुरू करने में मदद की है।


कोरोना महामारी के असर से अर्थव्यवस्था को बचाने और रोजगार के नए अवसर उपलब्ध कराने के लिए जिला स्तर पर अधिकारियों कीकमेटी का गठन किया गया था। कमेटी का काम कोरोना का जिले की अर्थव्यवस्था पर असर और बचाव के लिए किए जाने वाले उपायों को तलाशना था। उधर, काम-धंधा बंद होने के कारण पड़ोसी शहरों और राज्यों से बड़ी संख्या में युवा अपने घर लौट आए। ऐसे में रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने के लिए तमाम संबंधित विभागों ने मिलकर योजना तैयार की गई। योजना के तहत युवाओं की उनकी योग्यता के अनुसार स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध कराने पर जोर दिया गया। योजना कारगर रही और जिले में करीब 20 हजार युवा स्वरोजगार शुरू करने में कामयाब रहे। जबकि 40 करोड़ रुपये का ऋण भी विभिन्न विभागों ने स्वरोजगार शुरू करने के लिए दिया।

संयुक्त प्रयास का दिखा असर


योजना के तहत ऐसे विभागों का चयन किया गया जो स्वरोजगार शुरू करने में अग्रणी है। जिसमें मुख्य रूप से ग्राम विकास मनरेगा, ग्राम विकास स्वरोजगार योजना, सेवा योजन कार्यालय, कौशल विकास मिशन, उद्योग विभाग, खादी ग्रामोद्योग के साथ महिला स्वयं सहायता आदि मुख्य रूप से शामिल किए गए।


स्वरोजगार की स्थिति

ग्राम विकास स्वरोजगार          7920


सेवा योजन कार्यालय             1842


कौशल विकास मिशन             723


उद्योग विभाग                     1767


खादी ग्रामोद्योग                   459


महिला स्वयं सहायता समूह      10113


सीडीओ शशांक चौधरी ने कहा कि स्वरोजगार शुरू करने के लिए युवाओं को प्रेरित करने के साथ सरकारी की तमाम योजनाओं का लाभ भी दिया जा रहा है। बड़ी संख्या में युवाओं को ऋण उपलब्ध कराया गया और इसके सार्थक परिणाम भी सामने आने लगे हैं।


👉Download Govt Jobs UP Android App