Monday, March 15, 2021

आईटीआई के विद्यार्थियों को इंडिस्ट्री में 15 दिन की ट्रेनिंग अनिवार्य , इंडस्टी की मांग की मुताबिक तैयार किये जायेंगे विद्यार्थी

 आईटीआई के विद्यार्थियों को इंडिस्ट्री में  15 दिन की ट्रेनिंग अनिवार्य , इंडस्टी की मांग की मुताबिक तैयार  किये जायेंगे विद्यार्थी 






प्रदेश के युवकों को रोजगार से जोड़ने के लिए सरकार युवको को योग्य बनाने के लिए कौशल विकास पर विशेष फोकस किया जाएगा। सरकार ने इस काम में औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों (आईटीआई) की भूमिका बढ़ाने जा रही है। सरकार ने तय किया है कि अब सभी आईटीआई में इंडस्ट्री की मांग के हिसाब से प्रशिक्षण दी जाएगी। साथ ही प्रशिक्षित युवकों को एमएसएमई से जुड़ी इकाइयों में कम से कम 15 दिन की ट्रेनिंग भी दिलाई जाएगी। ट्रेनिंग के बिना कोर्स अधूरा माना जाएगा। इस दौरान दौरान छात्रों को सुरक्षा कवच देने के लिए दो लाख रुपये का बीमा भी कराया जाएगा। इस व्यवस्था को तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है।


यह जानकारी देते हुए राज्य कौशल विकास मिशन के निदेशक कुणाल सिल्कू ने बताया कि इंडस्ट्री में 15 दिन की ट्रेनिंग की व्यवस्था की जिम्मेदारी संबंधित आईटीआई को करनी होगी। उन्होंने कहा कि यह व्यवस्था इसलिए की गई है कि उद्योगों में ट्रेनिंग करने के बाद छात्र इंडस्ट्री में होने वाले कार्यों को करीब से देख सकेंगे और इंडस्ट्री के हिसाब से उनका कौशल विकास हो सकेगा। उन्होंने बताया कि युवाओं में कौशल की दक्षता बढ़ाने के लिए प्रदेश भर की आईटीआई में पढ़ने वाले छात्रों को सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम विभाग से जुड़ी औद्योगिक इकाइयों में राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान 15 दिन की अनिवार्य ट्रेनिंग कराएगा। प्रदेश के यूपी के 305 आईटीआई में 1.72 लाख छात्र व छात्राएं विभिन्न ट्रेडों में प्रशिक्षण ले रहे हैं।


बता दें कि आईटीआई अपने स्तर पर तो छात्रों को ट्रेनिंग देता ही है लेकिन अब उनको इंडस्ट्री से जोड़ने का काम भी किया जाएगा। औद्योगिक इकाइयों में ट्रेनिंग दिलाने के पीछे उद्देश्य यह है कि छात्रों को जहां कंपनी का कामकाज समझने में आसानी होगी, वहीं आगे चल कर उसे कार्य करने में परेशानी नहीं होगी।

हादसा हुआ तो दो लाख आर्थिक मदद भी देगी सरकार
कंपनियों में ट्रेनिंग लेने वाले छात्रों के जीवन की सुरक्षा का भी सरकार ने खास ख्याल रखने की व्यवस्था की है। विभाग की ओर से ट्रेनिंग लेने के दौरान प्रत्येक छात्र का जहां दो लाख रुपये का बीमा भी कराया जाएगा, वहीं ट्रेनिंग के दौरान के इंडस्ट्री में कोई हादसा होता है तो सरकार की ओर से छात्र को दो लाख रुपये की आर्थिक मदद भी दी जाएगी।





👉Download Govt Jobs UP Android App