Thursday, February 4, 2021

UPSSSC ::: आयोग को ग्रुप सी भर्ती करने का अधिकार :: कोर्ट , फ़र्मिसिस्ट भर्ती के खिलाफ याचिका खारिज

UPSSSC ::: आयोग को ग्रुप सी भर्ती करने का अधिकार :: कोर्ट , फ़र्मिसिस्ट भर्ती के खिलाफ याचिका खारिज 


इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उप्र अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ( यूपीएसएसएससी ) से हो रही फार्मासिस्ट भर्ती के खिलाफ दाखिल याचिका खारिज कर दी है। कोर्ट ने कहा कि आयोग को ग्रुप सी की भर्ती करने का अधिकार है। यह आदेश न्यायमूर्ति सुनीता अग्रवाल ने भरत जी व 2013 के 16 अन्य फार्मासिस्ट डिप्लोमा धारकों की याचिका पर दिया है। सरकारी अधिवक्ता जेएस बुन्देला का कहना था कि सुप्रीम कोर्ट व हाईकोर्ट के आदेश पर 2002 तक के कार्यरत फार्मासिस्टों को हर प्रकार के खाली पदों पर संतृप्त किया गया है। यह सभी को समायोजित करने की भर्ती की गई है। उसके बाद नियम बदल गए हैं। अब नई नियमावली के अनुसार सात दिसंबर 2020 के उप सचिव स्वास्थ्य के आदेश से पदों को भरने की कार्यवाही की जा रही है।इसलिए पुराने नियम से भर्ती की मांग नहीं की जा सकती।

राज्य सरकार के अधिवक्ता का यह भी कहना था कि वर्षों से भर्ती न होने के कारण 1998 से पहले के  डिप्लोमा धारक फार्मासिस्टों की भर्ती का आदेश दिया गया। बाद में जिसे बढाकर 2002 तक के कार्यरत डिप्लोमा धारक फार्मासिस्टों को शामिल किया गया। यह भर्ती सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर की गई है।

अब महानिदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं सेवाएं उप्र ने फिर से भर्ती कार्यवाही शुरू की है, जो नियमानुसार है। उसमें कोई अवैधानिकता नहीं है। 2002 तक के फार्मासिस्टों को संतृप्त करने के बाद खाली पदों को भरने की प्रक्रिया शुरू की गई है। सुनवाई के बाद कोर्ट ने भर्ती कार्यवाही को विधि सम्मत मानते हुए याचिका खारिज कर दी।



 

👉Download Govt Jobs UP Android App