Thursday, February 18, 2021

UPPSC PCS 2019 RESULT :: पीसीएस में दिल्ली की लड़कियों ने भी लहराया परचम , शीर्ष दस में दो लड़कियों के नाम

UPPSC PCS 2019 RESULT :: पीसीएस में दिल्ली की लड़कियों ने भी लहराया परचम , शीर्ष दस में दो लड़कियों के नाम 





 पीसीएस 2019 की टॉप-10 सूची में महिला का स्थान भले ही तीसरे नंबर पर हो पर पीसीएस की पिछली पांच परीक्षाओं की तुलना में इस बार बेटियों की सफलता का ग्राफ बढ़ा है। खास बात यह है कि यह स्थिति तब हुई है जबकि इस बार कुल पदों की संख्या पिछली पांच भर्तियों की तुलना में काफी कम रही है। पीसीएस 2019 में कुल 434 पदों पर चयन हुआ है, इनमें 128 बेटियां हैं। स्पष्ट है भर्ती में शामिल कुल पदों में से 29 प्रतिशत पदों पर बेटियों का चयन हुआ है। इस बार चयनित 46 डिप्टी कलेक्टर में 13 बेटियां हैं।

एक और महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि कुल चयनित 128 बेटियों में से 112 यूपी की रहने वाली हैं जबकि 16 दिल्ली सहित अन्य राज्यों की हैं। न्यायिक सेवा के लिए होने वाली आयोग की पीसीएस जे परीक्षा हो या प्रशासनिक सेवा की राज्य की सबसे बड़ी पीसीएस परीक्षा, बेटियां लगातार अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रही हैं। पीसीएस 2018 में चयनित 976 अभ्यर्थियों में एक चौथाई से अधिक 258 पदों पर बेटियों का चयन हुआ था। इनमें से 234 यूपी की रहने वाली थीं। हालांकि इस भर्ती में कुल पदों के सापेक्ष 26 प्रतिशत पद बेटियों को मिले थे जबकि 2018 में पदों की संख्या 2019 की तुलना में दोगुने से भी ज्यादा थी।
पीसीएस 2013 में 654 पदों पर चयन हुआ था। इनमें 122 यानी 19 प्रतिशत बेटियां थीं। वहीं पीसीएस 2014 में चयनित हुए कुल 579 अफसरों में 114 यानी 20 प्रतिशत बेटियां थीं तो पीसीएस 2015 में चयनित 530 अफसरों में 100 यानी 19 प्रतिशत बेटियां थीं। पीसीएस 2016 के परिणाम में 22 प्रतिशत बेटियों ने बाजी मारी थी तो पीसीएस 2017 की भर्ती में 27 प्रतिशत पद बेटियों के हिस्से में आए थे। 


पिछली भर्ती में बेटी ने किया था टॉप
आयोग की ओर से घोषित पीसीएस 2019 की टॉप-10 सूची में चार बेटियां शामिल हैं। बेटियों को मेरिट में तीसरा, पांचवां, आठवां और दसवां स्थान मिला है। पिछली यानी 2018 की परीक्षा की बात करें तो न केवल हरियाणा के पानीपत शहर की अनुज नेहरा ने टॉप किया था। बल्कि टॉप-थ्री में तीनों बेटियां ही थीं। इससे पूर्व 2016 की भर्ती में पीसीएस की दस परीक्षा के बाद कानपुर की बेटी जयजीत कौर होरा टॉपर बनी थीं। 2005 में इंदू प्रभा सिंह के बाद 2016 में जयजीत ने पीसीएस टॉप किया था। बता दें कि सिविल जज जूनियर डिविजन के पदों पर चयन के लिए होने वाली आयोग की पीसीएस जे 2018 भर्ती में आधे से अधिक पदों पर बेटियों का चयन हुआ था। कुल 610 पदों में से 315 पर बेटियां चयनित हुई थीं। पीसीएस जे 2018 की टॉपर भी बेटी थी। टॉप-10 चयनितों में पांच बेटियां शामिल थीं।


परीक्षा वर्ष  कुल चयन  चयनित बेटियां

2013 654 122
2014 579 114
2015 530 100
2016 630 138
2017 676 181
2018 976 258
2019 434 128


👉Download Govt Jobs UP Android App