Saturday, February 20, 2021

कोरोना काल में नौकरी के लिए आयु सीमा समाप्त होने वाले अभ्यर्थियों को दिया जाये एक साल के लिए अतिरिकत अवसर , समाजवादी पार्टी ने की मांग

कोरोना काल में नौकरी के लिए आयु सीमा समाप्त होने वाले अभ्यर्थियों को दिया जाये एक साल के लिए अतिरिकत अवसर , समाजवादी पार्टी ने की मांग 



समाजवादी पार्टी ने विधानसभा में कोरोना काल से प्रभावित प्रतियोगी परीक्षाओं में अब उम्र अधिक होने के कारण युवाओं के वंचित होने का मुद्दा उठाया। मांग रखी कि इस वजह से अब परीक्षा में बैठने के लिए उनकी उम्र में छूट मिलनी चाहिए। सरकार ने इस मांग को औचित्यहीन बताया। इस पर नाराज सपा सदस्यों ने वाकआउट किया। 

सपा के मनोज पांडेय ने शुक्रवार को शून्यकाल में यह मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में लगभग 30,000 ऐसे विद्यार्थी हैं, जिनके उम्र नौकरियों के लिए 2020 में समाप्त हो रही है। वह विभिन्न विभागों में भर्तियों के टलने के कारण फार्म नहीं भर पाए, जिसके कारण से वह आज ओवरेज हो गए हैं। सरकार पूरी संवेदनशीलता दिखाते हुए उन बच्चों को, जो लॉकडाउन के समय स्थगित परीक्षाओं के कारण मरीज हो गए, उनको अगली परीक्षा में नियमों को शिथिल कर समायोजित किया जाना चाहिए। 

मनोज पांडेय ने कहा कि प्रदेश सरकार दो साल यानी 2021 व 2022 में होने वाली भर्तियों के लिए आयु सीमा में छूट देनी चाहिए। 40 साल उम्र पूरी करने वाले भी इसमें भर्ती के लिए आवेदन कर सकें। संसदीय कार्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में भी प्रतियोगी परीक्षाएं प्रभावित नहीं हुईं। किसी को फार्म भरने से नहीं रोका गया।   

 👉Download Govt Jobs UP Android App