Thursday, February 18, 2021

आगरा सेना भर्ती रैली 2021 : कोविड रिपोर्ट न लाने पर बाहर हुए युवा

 आगरा सेना भर्ती रैली 2021 : कोविड रिपोर्ट न लाने पर बाहर हुए युवा




सेना भर्ती रैली के तीसरे दिन बुधवार को हाथरस की सादाबाद तहसील के हजारों युवाओं ने सेना की वर्दी पहनने के लिए दौड़ लगाई। सुबह 6 बजे से शुरू हुआ दौड़ का सिलसिला सुबह 11.30 बजे तक चला। सेना में शामिल होने के लिए प्रक्रिया मंगलवार रात 12 बजे से ही शुरू हो गई थी। कड़ी जांच के बाद चयन प्रक्रिया में शामिल हुए युवाओं ने भर्ती के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी। बुधवार को 2992 युवाओं ने दौड़ में हिस्सा लिया। 

भारतीय सेना में सैनिक जीडी, सैनिक टेक्नीकल एवं सैनिक ट्रेडमैन बनने के लिए आनंद इंजीनियरिंग कॉलेज में 15 फरवरी से भर्ती प्रक्रिया शुरू हुई है। बुधवार को बारी हाथरस की सादाबाद तहसील के युवाओं की थी। भर्ती के लिए हजारों युवाओं ने मंगलवार शाम से ही भर्ती स्थल के आसपास ही डेरा डाल दिया था। रात 12 बजे भर्ती प्रक्रिया शुरू होते ही जोश से लबरेज युवा सभी जांचों के बाद मैदान में दौड़ के लिए पहुंच गए। भर्ती अधिकारी कर्नल सिद्धार्थ बसु ने बताया कि भर्ती में शामिल होने के लिए 4600 से अधिक युवाओं ने पंजीकरण कराया था। परंतु दौड़ में केवल 2992 युवा ही शामिल हुए। दौड़ में पास होने वाले युवाओं को फिटनेस और मेडिकल जांच के लिए चयनित किया गया। चयनित युवाओं को मेडिकल के लिए बुधवार को बुलाया गया है। 

भर्ती रैली के दूसरे दिन भी 48 घंटे पहले जारी कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट न लाने पर दूसरे दिन भी दो दर्जन से अधिक युवाओं को बाहर कर दिया गया। भर्ती अधिकारी कर्नल सिद्धार्थ बसु ने बताया कि जो भी कोविड-19 नेगेटिव रिपोर्ट नहीं लाएगा, उसे भर्ती में शामिल नहीं होने दिया जाएगा। इसके साथ ही मास्क, ग्लव्स और सेनेटाइजर लाना भी अनिवार्य है। इस मामले में भी किसी को छूट नहीं दी जाएगी। 

एक अभ्यर्थी का पैर फ्रैक्चर हुआ
बुधवार को दौड़ के दौरान एक अभ्यर्थी का पैर फ्रैक्चर हो गया। दर्द से कराह रहे युवक को सेना के जवानों ने तुरंत मेडिकल कैम्प में पहुंचाया और प्राथमिक उपचार देने के बाद एबूलेंस से अस्पताल के लिए रवाना किया गया। सेना द्वारा  तत्काल चिकित्सा सुविधा देने से युवक को काफी राहत मिली। 

कल हाथरस और फिरोजाबाद के युवा दिखाएंगे दमखम
गुरवार को हाथरस शहर और फिरोजाबाद की जसराना तहसील के युवा सेना भर्ती में शामिल होंगे। कर्नल सिद्धार्थ बसु ने बताया कि दोनों तहसील के भी हजारों युवाओं ने भर्ती प्रक्रिया के लिए आवेदन कराया है। फर्जीवाड़ा रोकने के लिए सेना इंटेलीजेंस को भी सक्रिय किया गया है।