Friday, January 29, 2021

UPPSC पीसीएस 2019 इंटरव्यू प्रक्रिया शुरू , पहले दिन छाया रहा किसान आंदोलन का मुद्दा

UPPSC पीसीएस 2019  इंटरव्यू प्रक्रिया शुरू , पहले दिन छाया रहा किसान आंदोलन का मुद्दा 



अगर आप दिल्ली के पुलिस कमिश्नर होते तो किसान आंदोलन के दौरान हुई हिंसा पर कैसे काबू पाते? अगर डिप्टी एससी या एसडीएम होते तो बॉर्डर पर स्थिति को कैसे नियंत्रित करते? बृहस्पतिवार से शुरू हुए पीसीएस-2019 के इंटरव्यू में किसान आंदोलन से जुड़े ऐसे ही सवाल छाए रहे। पहले दिन इंटरव्यू के लिए कुल 119 अभ्यर्थियों को बुलाया गया था और उपस्थिति शत प्रतिशत रही। पहले सत्र में 63 और दूसरे सत्र में 56 इंटरव्यू में शामिल हुए।


एक अभ्यर्थी से पूछा गया कि कृषि किस सूची का विषय है। अभ्यर्थी ने जवाब दिया कि यह राज्य सूची का विषय है तो दूसरा सवाल पूछ लिया गया, ‘तो फिर केंद्र सरकार इसमें हस्तक्षेप क्यों कर रही है?’ अभ्यर्थी ने जवाब दिया कि कृषि विपणन समवर्ती सूची का विषय है, जो केंद्र एवं राज्य दोनों के तहत आता है। कई अभ्यर्थी ऐसे थे, जिनसे एक सवाल जरूर पूछा गया कि कृषि आंदोलन क्यों हुआ।


इस मसले पर सरकार और किसानों को लेकर आपकी क्या राय है? साथ ही पूछा कि एमएसपी क्या है और किसान आंदोलन का यह महत्वपूर्ण मुद्दा क्यों है? एक अभ्यर्थी से पूछा गया कि आप एसडीएम हैं और किसी आंदोलन के दौरान भीड़ ने आपको घेर लिया है तो उसे कैसे नियंत्रित करेंगे?

यह सवाल भी पूछा गया कि किसानों की आय कैसे बढ़ाएंगे? इंटरव्यू में किसान आंदोलन से हटकर भी कई सवाल पूछे गए। एक अभ्यर्थी से तो एसडीएम का फुल फॉर्म ही पूछ लिया गया तो एक अन्य अभ्यर्थी से कहा गया कि एसडीएम और डिप्टी कलक्टर में अंतर बताएं। इसके अलावा इंटरव्यू में कई अभ्यर्थियों से भारत-चीन-नेपाल संबंधों पर भी सवाल किए गए। साथ ही जलवायु परिवर्तन, आयुष्मान भारत, ग्रीन हाउस इफेक्ट, जैव विविधता, इसरो से जुड़े कई सवाल भी किए गए। एक अभ्यर्थी से यह भी पूछा गया कि ऐसा कौन सा जीव है जो पहले नर होता है और बाद में मादा बन जाता हैं? 
 
इंटरव्यू में पूछे गए सवाल जानने को जुटे अभ्यर्थी
उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग में पहले दिन इंटरव्यू देने आए अभ्यर्थी अपना साक्षात्कार देकर बाहर निकले तो उन्हें अन्य अभ्यर्थियों ने घेर किया। इनमें से कई अभ्यर्थी ऐसे थे, जिनका नंबर आने वाला था और बहुत से अभ्यर्थियों के इंटरव्यू अगली तारीखों में होने हैं। वे जानना चाहते थे कि इंटरव्यू बोर्ड की ओर से किस तरह के सवाल पूछे जा रहे हैं, ताकि उनकी तैयारी और बेहतर तरीके से हो सके। 
विधि अधिकारी पद के लिए मांगे अधिमान्यता प्रपत्र
सम्मिलित लोक निर्माण विभाग और भूतत्व एवं खनिकर्म विभाग में विधि अधिकारी के पदों पर चयन के लिए पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा में शामिल होने वाले एवं पद की अर्हता धारित करने वाले 44 अभ्यर्थियों से दोनों विभागों के पदों के लिए अधिमान्यता प्रपत्र मांगे गए हैं। परीक्षा नियंत्रक अरविंद कुमार मिश्र की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार अभ्यर्थियों को अधिमान्यता प्रपत्र उनके रजिस्टर्ड ई-मेल पर प्रेषित किए जा रहे हैं, जिनको पूर्ण रूप से भरकर दो फरवरी तक आयोग के उसी ईमेल पर उपलब्ध कराना है, जिस ईमेल से अभ्यर्थियों को प्रपत्र प्रेषित किए गए हैं।
तीन अभ्यर्थियों की इंटरव्यू तिथि बदली
उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग ने पीसीएस-2019 के तीन अभ्यर्थियों की इंटरव्यू तिथि में परिवर्तन किया गया है। यह परिवर्तन अभ्यर्थियों के प्रत्यावेदन के आधार पर किया गया है। अनुभाग अधिकारी रमेश कुमार भारती की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार अभ्यर्थी आलोक कुमार पंकज का साक्षात्कार अब दो फरवरी, कुमारी कोमल का साक्षात्कार चार फरवरी और अनुरुद्ध कुमार का साक्षात्कार एक फरवरी को होगा।



 

👉Download Govt Jobs UP Android App