Monday, January 18, 2021

CM योगी आदित्यनाथ का मिशन रोजगार, माध्यमिक स्कूलों के 436 शिक्षकों को मिलेगा नियुक्ति पत्र , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

 CM योगी आदित्यनाथ का मिशन रोजगार, माध्यमिक स्कूलों के 436 शिक्षकों को मिलेगा नियुक्ति पत्र , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 





कोरोना वायरस संक्रमण काल में बड़े संघर्ष के बाद भी उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने मिशन रोजगार की तेज गति बरकरार रखी है। बेसिक शिक्षा विभाग में 69 हजार सहायक अध्यापकों की नियुक्ति के बाद अब सरकार माध्यमिक शिक्षा विभाग में अध्यापकों को नियुक्ति तथा पदस्थापन पत्र देगी।

सीएम योगी आदित्यनाथ मंगलवार को अपने सरकारी आवास से दिन में ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग से चयनित प्रवक्ताओं एवं सहायक अध्यापकों (एलटी ग्रेड) को पदस्थापन एवं नियुक्ति पत्र वितरित करेंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ प्रतीक स्वरूप कुछ नवचयनित प्रवक्ताओं एवं सहायक अध्यापकों को अपने हाथों से नियुक्ति पत्र प्रदान करेंगे। इस अवसर पर वह अभ्यर्थियों को सम्बोधित करेंगे तथा पांच जनपदों के एक-एक सफल अभ्यर्थी से संवाद भी करेंगे।

राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक कला के लिए चयनित 114 महिला तथा 14 पुरूष सहित 138 अभ्यर्थियों तथा प्रवक्ता पद के लिए चयनित 189 महिला तथा 109 पुरूष सहित कुल 298 अभ्यर्थियों को आनलाइन नियुक्ति पत्र वितरित करेंगे। राजकीय माध्यमिक विद्यालयों के 298 प्रवक्ताओं तथा 138 सहायक अध्यापकों को ऑनलाइन माध्यम से नियुक्ति पत्र प्रदान किया जाएगा। इस ऑनलाइन नियुक्ति पत्र वितरण के अवसर पर उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा तथा राज्य मंत्री गुलाब देवी भी उपस्थित रहेंगे। इस अवसर पर जनपद एनआईसी के माध्यम से जुड़े रहेंगे। जिलों में अधिकतम पांच अथवा उपलब्ध नवचयनित प्रवक्ता एवं सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र का वितरण सम्बन्धित जनपद के सांसद या विधायक करेंगे। इसके लिए जिला विद्यालय निरीक्षक के माध्यम से सम्बन्धित अभ्यॢथयों को जनपदों के एनआईसी केन्द्र में समय से उपस्थित होने को कहा गया हैं। प्रदेश के राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में 436 चयनित प्रवक्ताओं एवं सहायक अध्यापकों को तैनाती दी जा रही है। यह कार्यक्रम राज्य सरकार के मिशन रोजगार की एक नई कड़ी है।


निदेशक माध्यमिक शिक्षा विनय कुमार पाण्डेय ने बताया कि मुख्यमंत्री जी की प्रेरणा से नवनियुक्त अध्यापकों को घर बैठे इच्छानुसार आनलाइन वरीयता क्रम में विद्यालयों के विकल्पों का चयन करने का अधिकार दिया गया तथा चयनित अभ्यॢथयों के लिए वरीयता क्रम के विकल्पों के आधार पर ही आनलाइन नियुक्ति पत्र निर्गत करने का कार्य कराया जा रहा है। निदेशक माध्यमिक शिक्षा ने बताया कि यह व्यवस्था प्रभावी होने से नव नियुक्त शिक्षकों का आत्मबल बढ़ेगा और वह पूर्ण मनोयोग से शिक्षण कार्य करेंगे। विद्यालयों में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं को पठन-पाठन की नई गति मिलेगी, जिससे नवीन राष्ट्र निर्माण का सपना साकार होगा। नियुक्ति प्रक्रिया में प्रथम वरीयता लोक सेवा आयोग से दिव्यांग की श्रेणी में चयनित अभ्यर्थी को दी जा रही है, जिससे उनको सर्वोच्च वरीयता वाले विद्यालयों में नियुक्ति प्राप्त होगी।



योगी आदित्यनाथ सरकार संकट के समय में भी प्रदेश के बेरोजगार युवकों को रोजगार देने की दिशा में लगातार काम कर रही है। योगी आदित्यनाथ सरकार पिछले चार वर्ष में चार लाख युवाओं को राजकीय सेवाओं में नियोजित करने के लक्ष्य की पूर्ती की ओर बढ़ रही है। पहले भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कई विभागों में नियुक्त हुए बेरोजगारों को अपने हाथों से नियुक्ति पत्र सौंप चुके हैं।