Thursday, January 7, 2021

महिला सैन्य पुलिस भर्ती के अभ्यर्थियों को कोरोना सर्टिफिकेट साथ लाना जरूरी , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

 महिला सैन्य पुलिस भर्ती के अभ्यर्थियों को कोरोना सर्टिफिकेट साथ लाना जरूरी , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 




एन एस राजपुरोहित ने गुरूवार को पत्रकारों को बताया कि भारतीय सेना में सैनिक श्रेणी में महिला सैन्य पुलिस के दूसरे बैच की भतीर् रैली की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। 

देश भर में महिला सैन्य पुलिस के 100 पदों के चयन के लिये उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड से प्राप्त आवेदनो में से शार्ट लिस्ट की गयी 5898 महिला उम्मीदवारों को आन लाइन प्रवेश पत्र भेजे जा चुके हैं। उन्हे अभ्यर्थियों को सलाह देते हुये कहा कि वे कोरोना टेस्ट का सार्टिफिकेट साथ लेकर आये जो किसी सरकारी हास्पिटल का ही मान्य होगा। बगैर कोरोना साटिफिकेट के आने वाले अभ्यर्थियों की पात्रता निरस्त समझी जायेगी।

उन्होने बताया कि सभी जिला प्रशासनो को इस बारे में अभ्यर्थियों के साथ सहयोग करने की अपील की गयी है ताकि वे कोरोना टेस्ट का प्रमाणपत्र सही समय पर लेकर एएमसी सेंटर एंड कॉलेज,लखनऊ के स्टेडियम में रैली के लिये उपस्थित हो सकें। अभ्यर्थियों को मास्क,सोशल डिस्टेसिंग और सैनीटाइजर समेत कोविड प्रोटोकाल का पालन करना होगा। सैन्य अधिकारी ने कहा कि रैली को तीन भागों में बांटा गया है। 18 जनवरी को अमेठी और आगरा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले जिलों के अभ्यथीर् को सेना के मानदंडो की कसौटी से गुजरना होगा जबकि 19 जनवरी को लखनऊ और मेरठ क्षेत्र के जिलों की भतीर् रैली का आयोजन किया जायेगा वहीं 2० जनवरी को वाराणसी और उत्तराखंड के अभ्यर्थियों का फिजिकल टेस्ट होगा। 21 जनवरी से उनका मेडिकल टेस्ट शुरू किया जायेगा।

अभ्यर्थियों को सलाह दी गयी है कि वे दलालों और धोखेबाज व्यक्तियों से सावधान रहें और दवाओं के सेवन से बचें। इस बात पर फिर से जोर दिया जाता है कि अगर उम्मीदवार इस तरह के व्यवहार में शामिल पाए गए तो उनकी उम्मीदवारी रद्द कर दी जाएगी उन्होंने बताया कि आने वाले दिनो में आगरा में भर्ती रैली आयोजित की जायेगी जिसमें एक लाख 12 हजार रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। फरवरी में संभावित इस आयोजन के सफल क्रियान्वयन के लिये सिविल एडमिनिस्ट्रेशन का सहयोग लिया जायेगा जिसके लिये मुख्य सचिव और प्रमुख सचिव से बात हो चुकी है और उनका रिस्पांस बेहद पाजीटिव रहा है।