Monday, January 11, 2021

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 11 जनवरी 2021 , क्लिक करे और पढ़े

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 11 जनवरी 2021 , क्लिक करे और पढ़े 




वर्ष 2022 में UNSC की आतंकवाद विरोधी समिति की अध्यक्षता करेगा भारत

भारत वर्ष, 2022 में UNSC की आतंकवाद विरोधी समिति की अध्यक्षता करने वाला है. भारत न केवल आंतरिक आतंकवाद, विशेष रूप से सीमा पार के आतंकवाद से लड़ने में सबसे आगे रहा है. संयुक्त राज्य अमेरिका के न्यूयॉर्क में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर दुखद 9/11 हमले के बाद सितंबर, 2001 में UNSC की आतंकवाद विरोधी समिति का गठन किया गया था.


भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के वर्ष, 1950-1951, 1967-1968, 1972-1973, 1977-1978, 1984-1985, 1991-1992 और 2011-2012 में एक गैर-स्थायी सदस्य के रूप में पहले सात कार्यकाल पूरे किये हैं. भारत का अंतिम कार्यकाल इससे ठीक एक दशक पहले था.


कोयला खदानों के संचालन हेतु सिंगल विंडो क्लीयरेंस सिस्टम की शुरुआत


गृह मंत्री अमित शाह बोले कि मोदी सरकार लगातार कोयला क्षेत्र में पारदर्शिता लाने का काम कर रही है. उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि कोयला क्षेत्र में पहले ये भाव होता था कि वो अपनी क्षमता के अनुसार काम नहीं कर पा रहा है. साल 2014 से पहले कोयला क्षेत्र में केवल घोटाले की बातें सुनाई देती थी, यही कारण था कि इस क्षेत्र में काम नहीं हो पाता था.


केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि अब कोयला क्षेत्र में केवल बड़े ही नहीं बल्कि छोटे हिस्सेदार का भी सम्मान किया जा रहा है. प्रधानमंत्री मोदी का लक्ष्य आत्मनिर्भर भारत का है, दुनिया का सबसे इंटेलीजेंट युवा, मेहनतकश मजदूर हमारे पास है. प्रधानमंत्री मोदी ने देश के सामने एक विज़न रखा है, जिसकी ओर देश आगे बढ़ रहा है.


वित्त वर्ष 2020-21 में भारत की जीडीपी में 7.7 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान

राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय (एनएसओ) के मुताबिक, वित्त वर्ष 2020-21 में स्थिर मूल्य (2011-12) पर वास्तविक जीडीपी या जीडीपी 134.40 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान है. वहीं, 2019-20 में जीडीपी का शुरुआती अनुमान 145.66 लाख करोड़ रुपये रहा है.


रेटिंग एजेंसी ने इससे पहले चालू वित्त वर्ष में अर्थव्यवस्था में 11.8 प्रतिशत गिरावट का अनुमान लगाया था. चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही अप्रैल-जून में कोविड-19 महामारी की वजह से भारतीय अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की जबर्दस्त गिरावट आई थी.


गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि होंगे सूरीनाम के राष्ट्रपति

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन गणतंत्र दिवस के परेड में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने वाले थे, लेकिन ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से बढ़े प्रकोप के चलते उन्होंने अपनी भारत यात्रा रद्द कर दी थी. इसके बाद सरकार की ओर से सूरीनाम के राष्ट्रपति को न्योता दिया गया, जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया.


सूरीनाम के भारतीय मूल के राष्ट्रपति ने प्रवासी भारतीय दिवस के डिजिटल माध्यम से आयोजित कार्यक्रम में कहा कि सूरीनाम से भारत आने वाले यात्रियों के लिए वीजा परमिट समाप्त करके इस दिशा में पहला कदम उठाने के लिए सूरीनाम तैयार है. उन्होंने कहा कि व्यापार और पर्यटन के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच सहयोग बढ़ाने की गुंजाइश भी है.


👉Download Govt Jobs UP Android App