Saturday, January 9, 2021

वीकली टॉप -10 करेंट अफेयर्स इवेंट्स : 04 जनवरी - 09 जनवरी 2021 , क्लिक करे और पढ़े

वीकली टॉप -10 करेंट अफेयर्स इवेंट्स : 04 जनवरी - 09 जनवरी 2021 , क्लिक करे और पढ़े 





 1.प्रवासी भारतीय दिवस क्या है और इसे क्यों मनाया जाता है

प्रवासी भारतीय दिवस प्रतिवर्ष 09 जनवरी को मनाया जाता है. प्रवासी भारतीय दिवस मनाने का उद्देश्य उन प्रवासी भारतीयों को मान्यता देना है जिन्होंने भारत के विकास में योगदान दिया है. प्रवासी भारतीय दिवस पहली बार साल 2003 में मनाया गया था.


प्रवासी भारतीय दिवस 09 जनवरी को मनाया जाता है क्योंकि महात्मा गांधी 09 जनवरी 1915 को दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटे थे. महात्मा गांधी को सबसे महान प्रवासी माना जाता है जिन्होंने न केवल भारत के स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व किया बल्कि भारतीयों के जीवन को हमेशा के लिए बदल दिया.


2.केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर के विकास के लिए दी 28,400 करोड़ रुपये की मंजूरी


यह योजना जम्मू-कश्मीर में नए निवेश, पर्याप्त विस्तार और मौजूदा उद्योगों को प्रोत्साहित करेगी. उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि केंद्र सरकार ने क्षेत्र की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने और रोजगार के मौके उपलब्ध कराने के लिए जम्मू-कश्मीर के लिए 28,400 करोड़ की औद्योगिक विकास योजना को मंजूरी प्रदान की है.


उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि केंद्र शासित प्रदेश में विनिर्माण और सेवा क्षेत्र की इकाइयों को फायदा मिलेगा और यह योजना भारतीय अर्थव्यवस्था में जम्मू-कश्मीर की बड़ी भूमिका को दर्शाती है. उन्होंने कहा कि यह योजना जम्मू-कश्मीर की स्थानीय क्षमताओं के उपयोग को बढ़ावा देगी.


3.भारत और जापान के बीच कुशल कामगारों की सहभागिता समझौता ज्ञापन को मंजूरी

यह समझौता ज्ञापन निर्धारित कुशल कामगारों के संबंध में तय व्‍यवस्‍था के उचित परिचालन के लिए सहभागिता का मूलभूत ढांचा तैयार करने के संबंध में है. इसके तहत दोनों देशों के बीच सहभागिता और सहकार से जुड़ा एक संस्थागत तंत्र स्थापित होगा. जो इसका अनुपालन सुनिश्चित करेगा.


भारत और जापान के संबंध हमेशा से काफी मजबूत और स्थिर रहे हैं. जापान की संस्कृति पर भारत में जन्मे बौद्ध धर्म का स्पष्ट प्रभाव देखा जा सकता है. जापान की कई कम्पनियां जैसे कि सोनी, टोयोटा और होंडा ने अपनी उत्पादन इकाइयां भारत में स्थापित की हैं और भारत की आर्थिक विकास में योगदान दिया है.


4.सुप्रीम कोर्ट ने सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को दी मंजूरी, जानें विस्तार से

सुप्रीम कोर्ट ने सेंट्रल विस्टा प्रॉजेक्ट को मंजूरी दे दी है. जस्टिस एएम खानविलकर, जस्टिस दिनेश माहेश्वरी और जस्टिस संजीव खन्ना की बेंच ने 2:1 के बहुमत से यह फैसला सुनाते हुए कहा कि पीठ सरकार को इस योजना के लिए मंजूरी दे रही है. कोर्ट ने पिछली सुनवाई में निर्माण और तोड़फोड़ पर रोक लगाते हुए सिर्फ नए संसद भवन के शिलान्यास की अनुमति दी थी.


नई संसद इमारत 65,400 स्क्वायर मीटर में बनाई जाएगी और भव्य कलाकृति से युक्त होगी. इमारत एक तिकोना ढांचा होगा और इसकी ऊंचाई पुरानी इमारत जितनी ही होगी. इसमें एक बड़ा संविधान हॉल, सांसदों के लिए एक लाउन्ज, एक लाइब्रेरी, कई कमेटियों के कमरे, डाइनिंग एरिया जैसे कई कम्पार्टमेंट होंगे.


5.Disease X क्या है? कोरोना से भी तेज होगा 'डिजीज एक्स' का खतरा, जानें कैसे

इबोला वायरस की खोज में अहम भूमिका निभाने वाले डॉक्टर जीन जैक्स मुएंब तामफम ने इस बारे में अलर्ट किया है. विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि डिजीज एक्स, कहां जाकर रुकेगी अभी यह सिर्फ कल्पना है. विशेषज्ञों का मानना है कि यदि यह अस्तित्व में आती है तो यह कोरोना महामारी से कई गुना अधिक खतरनाक होगी.


कांगो में एक महिला में डिजीज एक्स के लक्षण पाए गए हैं. कांगो के इगेंड में एक महिला मरीज में बुखार के लक्षण देखे गए. इसके बाद मरीज ने इबोला की जांच कराई लेकिन यह जांच निगेटिव आई. अब डॉक्टरों को इस बात का डर है कि ये महिला डिजीज एक्स की पहली मरीज है.


6.यूपी सरकार ने किसानो के लिए ‘किसान कल्याण मिशन’ शुरू किया

किसान कल्याण मिशन नाम का यह कार्यक्रम राज्य के सभी विधानसभा क्षेत्रों को कवर करेगा. किसान कल्याण मिशन के तहत, समूचे राज्य में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा. इस मिशन के जरिये किसानों की तीन नये कृषि कानूनों को लेकर जारी नाराजगी को दूर करने का भी प्रयास किया जाएगा.


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अगले तीन सप्ताह तक हर बुधवार को विकासखंडों में कार्यक्रम कर किसानों को योजनाओं की जानकारी देने के साथ ही पात्रों को लाभान्वित भी कराने के निर्देश दिए. इसके तहत प्रदेश के प्रत्येक विकास खण्ड पर कृषि और किसान कल्याण पर विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे. मुख्यमंत्री ने अंतरविभागीय समन्वय से मिशन का माइक्रोप्लान बनाने का भी निर्देश दिया है.


7.ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने रद्द किया भारत दौरा, जानें वजह

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस परेड के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर आमंत्रित किया गया था. जॉनसन ने संकेत दिया है कि उनकी भारत यात्रा जी-7 शिखर सम्मेलन से पहले साल के पूर्वार्द्ध में होगी. यह सम्मेलन ब्रिटेन की अध्यक्षता में इस साल के अंत में होने की योजना है.


बोरिस ने 04 जनवरी 2020 को देश को संबोधित करते हुए कहा कि यह देश के लिए कठिन समय है. देश में कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है. फिलहाल, लोगों को लॉकडाउन के दौरान घर में ही रहना होगा वह केवल जरुरी काम के लिए घर से बाहर निकल सकते हैं.


8.World Braille Day 2021: विश्व ब्रेल दिवस क्या है और इसे क्यों मनाया जाता है?

इस दिन दिव्यांगजन अधिकार अधिनियम, नेत्र रोगों की पहचान, रोकथाम और पुनर्वास विषय पर बातें होती है. संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक विश्व भर में करीब 39 मिलियन लोग देख नहीं सकते जबकि 253 मिलियन लोगों में कोई न कोई दृष्टि विकार है. विश्व ब्रेल दिवस का मुख्य उद्देश्य दृष्टि-बाधित लोगों के अधिकार उन्हें प्रदान करना और ब्रेल लिपि को बढ़ावा देना है.


ब्रेल एक लेखन पद्धति है. यह नेत्रहीन व्यक्तियों के लिए सृजित की गई थी. ब्रेल एक स्पर्शनीय लेखन प्रणाली है. इसे एक विशेष प्रकार के उभरे कागज़ पर लिखा जाता है. इसकी संरचना फ्रांसीसी नेत्रहीन शिक्षक और आविष्कारक लुइस ब्रेल ने की थी. इन्हीं के नाम पर इस पद्धति का नाम ब्रेल लिपि रखा गया है.


9.सरकार ने मध्यप्रदेश में कौओं की मौत के बाद बर्ड फ्लू को लेकर अलर्ट जारी किया

कोरोना वायरस (कोविड-19) का खतरा अभी टला भी नहीं है और इस बीच एक और बीमारी ने लोगों की चिंता बढ़ा दी है. भारत में बर्ड फ्लू के मामले बढ़ते जा रहे हैं. हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश और केरल में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो गई है. वहीं, राजस्थान और गुजरात में पक्षियों की मौत के बाद प्रशासन अलर्ट है.


राजस्थान में भी अब बर्ड फ्लू का खतरा हो गया है. राजस्थान के चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन ने बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए अलर्ट जारी किया है. प्रदेश के सभी टाइगर रिजर्व और अन्य इलाकों में बर्ड फ्लू को लेकर एडवाइजरी जारी की गई है. राजस्थान, मध्य प्रदेश, झारखंड और हिमाचल प्रदेश में इस वायरस को लेकर अलर्ट जारी कर दिया गया है.


10.जापान बना रहा है लकड़ी की सैटेलाइट, जानें क्या है पूरी योजना

अंतरिक्ष में अब ऐसे सेटेलाइट भेजने की तैयारी हो रही है जो लकड़ी से बना होगा. वापस आते समय धरती दाखिल होते ही यह पूरी तरह जल जायेगा जिससे कोई मलबा तैयार नहीं होगा और अंतरिक्ष सुरक्षित रहेगा. हालांकि, जापान इस नये सेटेलाइट पर काम कर रहा है.


इस मटीरियल का प्रयोग पहले पृथ्वी के अलग-अलग वातावरण में किया जाएगा. उपग्रहों की बढ़ती संख्या के कारण अंतरिक्ष में कचरा बढ़ता जा रहा है, इसे स्पेस जंक कहते हैं. लकड़ी के सैटेलाइट पृथ्वी के वातावरण में लौटने पर जल जाएंगें, इनसे किसी तरह के हानिकारक पदार्थ नहीं निकलेंगे और किसी तरह का मलबा भी धरती पर नहीं गिरेगा.


👉Download Govt Jobs UP Android App