Thursday, January 7, 2021

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 07 जनवरी 2021, क्लिक करे और पढ़े

टॉप हिन्दी करेंट अफ़ेयर्स: 07 जनवरी 2021, क्लिक करे और पढ़े 





 सुप्रीम कोर्ट ने सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को दी मंजूरी, जानें विस्तार से

सुप्रीम कोर्ट ने सेंट्रल विस्टा प्रॉजेक्ट को मंजूरी दे दी है. जस्टिस एएम खानविलकर, जस्टिस दिनेश माहेश्वरी और जस्टिस संजीव खन्ना की बेंच ने 2:1 के बहुमत से यह फैसला सुनाते हुए कहा कि पीठ सरकार को इस योजना के लिए मंजूरी दे रही है. कोर्ट ने पिछली सुनवाई में निर्माण और तोड़फोड़ पर रोक लगाते हुए सिर्फ नए संसद भवन के शिलान्यास की अनुमति दी थी.


सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के तहत नए संसद परिसर का निर्माण किया जाना है. इसमें 876 सीट वाली लोकसभा, 400 सीट वाली राज्यसभा और 1224 सीट वाला सेंट्रल हॉल बनाया जाएगा. इससे संसद की संयुक्त बैठक के दौरान सदस्यों को अलग से कुर्सी लगा कर बैठाने की ज़रूरत खत्म हो जाएगी.


ऑक्सीजन प्लांट्स लगाने हेतु PM Cares Fund से दिए गए 201 करोड़ रुपये



पीएम केयर फंड से कोरोना मरीजों के लिए बिहार के बिहटा में ईएसआइ मेडिकल कॉलेज में 500 बेड के अस्पताल की स्थापना की गई थी. पीएम केयर्स फंड से छत्तीसगढ़ के बिलासपुर-सरगुजा संभाग को 7.74 करोड़ रुपये मिले हैं. पीएम मोदी की पहल पर देश के सभी जिलों के कलेक्टर को पीएम केयर्स फंड से पैसे भेज दिए गए हैं.


पीएम केयर्स फंड से 201.58 करोड़ रुपये 162 पीएसए मेडिकल ऑक्सीजन जेनेरेशन प्लांट्स लगाने के लिए दिए गए हैं. इसमें से 137.33 करोड़ रुपये संयंत्रों की आपूर्ति और कमीशनिंग के लिए और 64.25 करोड़ रुपये केंद्रीय चिकित्सा आपूर्ति स्टोर (सीएमएएस) का प्रबंधन शुल्क और व्यापक वार्षिक अनुरक्षण अनुबंध के लिए दिए गए हैं.


भारत और जापान के बीच कुशल कामगारों की सहभागिता समझौता ज्ञापन को मंजूरी

यह समझौता ज्ञापन निर्धारित कुशल कामगारों के संबंध में तय व्‍यवस्‍था के उचित परिचालन के लिए सहभागिता का मूलभूत ढांचा तैयार करने के संबंध में है. इसके तहत दोनों देशों के बीच सहभागिता और सहकार से जुड़ा एक संस्थागत तंत्र स्थापित होगा. जो इसका अनुपालन सुनिश्चित करेगा.


भारत और जापान के संबंध हमेशा से काफी मजबूत और स्थिर रहे हैं. जापान की संस्कृति पर भारत में जन्मे बौद्ध धर्म का स्पष्ट प्रभाव देखा जा सकता है. जापान की कई कम्पनियां जैसे कि सोनी, टोयोटा और होंडा ने अपनी उत्पादन इकाइयां भारत में स्थापित की हैं और भारत की आर्थिक विकास में योगदान दिया है.


Disease X क्या है? कोरोना से भी तेज होगा 'डिजीज एक्स' का खतरा, जानें कैसे

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि डिजीज एक्स, कहां जाकर रुकेगी अभी यह सिर्फ कल्पना है. विशेषज्ञों का मानना है कि यदि यह अस्तित्व में आती है तो यह कोरोना महामारी से कई गुना अधिक खतरनाक होगी.


कांगो में एक महिला में डिजीज एक्स के लक्षण पाए गए हैं. कांगो के इगेंड में एक महिला मरीज में बुखार के लक्षण देखे गए. इसके बाद मरीज ने इबोला की जांच कराई लेकिन यह जांच निगेटिव आई. अब डॉक्टरों को इस बात का डर है कि ये महिला डिजीज एक्स की पहली मरीज है.



👉Download Govt Jobs UP Android App