Tuesday, December 8, 2020

SSC दिल्ली पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में ब्लूटुथ से नकल कर रही युवती अरेस्ट, ऐसे खुली पोल , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

 SSC दिल्ली पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में ब्लूटुथ से नकल कर रही युवती अरेस्ट, ऐसे खुली पोल , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 




कनखल में दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल की परीक्षा में नकल करते हुए एक युवती गिरफ्तार हुई है। युवती ब्लूटूथ की तरह दिखने वाली डिवाइस के मदद से नकल कर रही थी। पुलिस ने आरोपी युवती के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

पुलिस के मुताबिक एसएससी की ओर से दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल के पद के लिए परीक्षा कराई जा रही है। इसके लिए हरिद्वार कनखल जगजीतपुर के एसएम पब्लिक स्कूल को परीक्षा केंद्र बनाया गया है। सोमवार को दो पाली में केंद्र में परीक्षा थी। दूसरी पाली में एक युवती को परीक्षा में नकल करते हुए पकड़ा। युवती कान में डिवाइस लगाकर आसानी से नकल कर रही थी। युवती ने पूछताछ में अपना नाम रजनी पुत्री दिलबाग निवासी सोनीपत हरियाणा बताया। युवती को पकड़ने के बाद उसे परीक्षा केंद्र की जांच टीम ने पुलिस के हवाले कर दिया था। कक्ष निरीक्षक सचिन चौधरी की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी युवती रजनी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।


ऐसे आई पकड़ में-
युवती ने आसानी से आधे से अधिक पेपर में नकल कर ली थी। लेकिन इस बीच किसी की नजर उसके कान में अचानक लाल लाइट पर पड़ी। छोटे से डिवाइस अचानक चमक गया। सूचना उड़न दस्ते को दी गई और टीम ने उसे पकड़ लिया। जिसके बाद युवती ने नकल करने की बात को स्वीकार किया।

पहले भी इसी सेंटर में पकड़ा था आरोपी
बीते 25 नवंबर को भी इसी सेंटर में केंद्रीय पुलिस संगठन (सीपीओ) की परीक्षा में कनखल पुलिस ने एक मुन्ना भाई अंकुर पुत्र सुरेंद्र सिंह निवासी हापुड़ को गिरफ्तार किया है। आरोपी अपने दोस्त की जगह परीक्षा देने हापुड़ से हरिद्वार पहुंचा था।

नहीं लिया किसी का नाम
युवती को परीक्षा में कौन नकल करा रहा था। इस बात के लिए युवती ने पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी है। पुलिस इस केंद्र में परीक्षा में नकल कराने वाले को भी आरोपी बनाना चाह रही थी, लेकिन युवती ने किसी का भी नाम नहीं लिया।

हो सकता है गिरोह
पुलिस मान रही है इस परीक्षा में कोई गिरोह हो सकता है। जो अभ्यर्थियों की नकल में मदद कर रहा था। एसएससी के अधिकारियों को इस बाबत जांच टीम ने जानकारी दे दी है। कि इस तरह से हरिद्वार में नकल हो रही थी।