Thursday, December 24, 2020

पुलिस भर्ती परीक्षा फर्जीवाड़ा : सिपाही की नौकरी नहीं की, रुपयों के लालच में बन गया सॉल्वर , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

 पुलिस भर्ती परीक्षा फर्जीवाड़ा : सिपाही की नौकरी नहीं की, रुपयों के लालच में बन गया सॉल्वर , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 




भवानी सिंह इंटर कॉलेज में 20 दिसंबर को पुलिस भर्ती परीक्षा की दोपहर की पाली में नौहझील, मथुरा निवासी विष्णु पकड़ा गया था। वह अलीगढ़ के रहने वाले राजेश के स्थान पर परीक्षा दे रहा था। अलीगढ़ की कोचिंग के संचालक संदीप और शिक्षक योगेश से दो लाख रुपये में सौदा करके परीक्षा देने आया था। 

पुलिस ने विष्णु के साथ कोचिंग संचालक संदीप, शिक्षक योगेश और साइबर कैफे संचालक धर्मेंद्र निवासी गोंडा, अलीगढ़ को गिरफ्तार किया था। चारों को जेल भेजा गया था। वहीं पुलिस सॉल्वरों का नेटवर्क तोड़ने में लगी है। 

आशंका है कि पुलिस भर्ती परीक्षा में कई और केंद्रों पर परीक्षा में सॉल्वर बैठाए गए हैं। कोचिंग संचालक के पकड़े जाने के बाद पुलिस ने कुछ और संदिग्ध युवकों को उठाया है। उनसे पूछताछ की जा रही है।


प्रशिक्षण नहीं लिया, लगाया था छुट्टी का प्रार्थना पत्र

सीओ छत्ता विकास कुमार ने बताया कि विष्णु से पूछताछ की गई। उसने बताया कि वह वर्ष 2018 में सिपाही भर्ती परीक्षा में पास हो गया था। उसे प्रशिक्षण पर बुलाया गया था। मगर, वह दस्तावेज जमा करने के बाद वापस आ गया। व्यक्तिगत कारण बताते हुए छुट्टी का प्रार्थना पत्र दे दिया। 


अब वह सॉल्वर बन गया था। 19 दिसंबर को ही कानपुर के एक कालेज में परीक्षा देकर आया था। उसने डेढ़ लाख रुपये में परीक्षा देने का सौदा किया था। यहां भी उसे अलीगढ़ की कोचिंग के संचालक ने ही भेजा था।  उसने इससे पूर्व में और कई प्रतियोगी परीक्षा में भाग लिया है। 


👉Download Govt Jobs UP Android App