Saturday, December 5, 2020

69000 शिक्षक भर्ती : CM योगी आदित्यनाथ ने नव नियुक्त शिक्षकों का हौसला बढ़ाया,कहा- आप में काबिलियत है; करें बेसिक शिक्षा का कायाकल्प , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

69000  शिक्षक भर्ती : CM योगी आदित्यनाथ ने नव नियुक्त शिक्षकों का हौसला बढ़ाया,कहा- आप में काबिलियत है; करें बेसिक शिक्षा का कायाकल्प , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 




उत्तर प्रदेश में बेसिक शिक्षा विभाग में कोर्ट की लम्बी लड़ाई के बाद नवनियुक्त सहायक अध्यापकों को नियुक्ति पत्र वितरण का कार्यक्रम जारी है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने शनिवार को अपने सरकारी आवास से ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से 36,590 सहायक शिक्षकों को नियुक्ति पत्र प्रदान किया।

इनको जिला आवंटन भी शीघ्र होगा। इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने 16 अगस्त को 31,227 सहायक स्कूल शिक्षकों को नियुक्ति पत्र वितरित किया था। 69,000 शिक्षक भर्ती अभियान 2020 के तहत शनिवार को 36,950 शिक्षकों को उनके नियुक्ति पत्र दिए गए हैं। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में ईमानदारी पूर्वक तरीके काम करना अपने आप में एक चुनौती हो जाती है, इसे पूरा करने में पग-पग पर बाधाएं आती हैं। सभी शिक्षकों को नियुक्ति पत्र प्रदान करने के आज के समारोह में उपस्थित समस्त नवनियुक्त शिक्षकगणों को मैं हृदय से अपनी शुभकामनाएं देता हूं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे लिए शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया पारदर्शी तरीके से पूरी करना महत्वपूर्ण था, क्योंकि प्रदेश के अंदर हमारे पास 1.58 लाख से अधिक  बेसिक शिक्षा विभाग के विद्यालय हैं। इन विद्यालयों में बहुत जगह ऐसी स्थिति थी, जहां या तो विद्यालय में शिक्षक नहीं थे या फिर एकल शिक्षक के कारण सभी बच्चों पर ध्यान देना मुश्किल हो रहा था।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नवनियुक्त शिक्षकों का हौसला बढ़ाया। दरअसल नवनियुक्त शिक्षकों में से कुछ बीटेक, कुछ एमएससी और कुछ नेट क्वालीफाई थे।  अपने आवास पर  शनिवार को बेसिक शिक्षा परिषद के 36,590 सहायक शिक्षकों के नियुक्ति पत्र के मौके पर अयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि नियुक्ति आपकी योग्यता का सम्मान है। इसमें आपके माता-पिता का त्याग और गुरुजनों का मार्ग दर्शन भी शामिल हैं। आप जिन बच्चों को पढ़ाने जा रहे सिर्फ उनकी नहीं समाज और देश की उम्मीद हैं। यूं तो शिक्षक की नौकरी ही औरों से अलग होती है। इसमें भी प्राइमरी स्कूलों में पढ़ाने वाले शिक्षक की नौकरी सबसे अहम है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्राइमरी  शिक्षा वह बुनियाद होती है जिस पर आगे की पूरी शिक्षा, संस्कार, देश और समाज का निर्माण होता है। ऐसे में आप लोगों का फर्ज बहुत बड़ा है। अगर आप ईमानदारी से बच्चों को अपना सर्वश्रेष्ठ देंगे तो आने वाले समय में देश और समाज में भी आमूल-चूल बदलाव दिखेगा। अपने इस जवाबदेही को समझें और बेसिक शिक्षा के कायाकल्प का संकल्प लें। सीएम ने कहा कि नवनियुक्त शिक्षकों को यह समझना होगा कि एक शिक्षक आजीवन शिक्षक ही होता है। उसकी सेवाओं को घण्टे में सीमित नहीं किया जा सकता। सीएम योगी ने शिक्षकों से पाठ्यक्रम के सरलीकरण, पाठ्य विधि को रोचक बनाने, नवाचारों को प्रोत्साहित करने की अपील की।


सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया जनवरी, 2019 में पूरी हो चुकी थी लेकिन कोई न कोई व्यक्ति कोर्ट में जाता था और फिर कोर्ट की प्रक्रिया के तहत वह मामला लटकते-लटकते हाईकोर्ट तथा हाईकोर्ट से सुप्रीम कोर्ट चला गया। माननीय अदालत का फैसला आने के बाद हम इस प्रक्रिया को संपन्न करने जा रहे हैं। प्रदेश में 69,000 शिक्षकों की सफलतापूर्वक भर्ती एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।