Friday, November 27, 2020

यूपीएससी की तर्ज पर अतिरिक्त अवसर की अभ्यर्थियों ने की मांग


यूपीएससी की तर्ज पर अतिरिक्त अवसर की अभ्यर्थियों ने की मांग।

प्रयागराज : उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने काफी हद तक संघ लोकसेवा आयोग (यूपीएससी) की कार्यप्रणाली अपना ली है। पिछले साल 2019 में हुई पीसीएस-2018 की परीक्षा का पैटर्न पूरी तरह से बदल दिया गया। प्रश्नों का स्वरूप, विषय का चयन सब यूपीएससी की तर्ज पर किया गया है। इसके चलते अधिक उम्र के अभ्यर्थियों को तैयारी का उचित मौका नहीं मिला। अब ओवरएज अभ्यर्थियों के लिए यूपीएससी की तर्ज पर अतिरिक्त अवसर मांगा जा रहा है। मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर ओवरएज हो चुके अभ्यर्थियों को पीसीएस 2021-2022 में मौका देने की मांग उठाई है। इसके मद्देनजर प्रदेश समस्त जनप्रतिनिधियों व केंद्रीय मंत्रियों को भी ई-मेल के जरिए पत्र भेजा जा रहा है।

ओवरएज अभ्यर्थियों को दो मौका देने की मांग के संबंध में प्रतियोगी छात्र संघर्ष समिति के प्रवक्ता अवनीश पांडेय ने तीन मई को केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति को पत्र लिखा था। उन्होंने उसको संज्ञान में लेकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर ओवरएज हो चुके अभ्यर्थियों को दो अवसर देने का अनुरोध किया है। इस दिशा में सरकार जल्द उचित कदम उठाए, इसके लिए अवनीश ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा जिसमें कहा है कि कोविड काल में पीसीएस-2020 की परीक्षा करा दी गई। कोविड के मद्देनजर संघ लोकसेवा आयोग ने ओवरएज अभ्यर्थियों को एक अतिरिक्त अवसर देने का निर्णय लिया है।