Monday, November 30, 2020

आयोग पर अब सत्याग्रह करेंगे एलटी ग्रेड चयनित, चयनितों को न्याय दिलाने के लिए कोर्ट के साथ सड़क पर आवाज

आयोग पर अब सत्याग्रह करेंगे एलटी ग्रेड चयनित, चयनितों को न्याय दिलाने के लिए कोर्ट के साथ सड़क पर आवाज

 प्रयागराज : आयुसीमा विवाद का निस्तारण कराने के लिए एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा-2018 के चयनित सत्याग्रह करेंगे। उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग पर दो दिसंबर से चयनित अभ्यर्थियों का सत्याग्रह शुरू होगा। विवाद का निस्तारण न होने तक उनका प्रदर्शन जारी रहेगा। इसके साथ अभ्यर्थी कोर्ट से सुनवाई तेज करने की मांग करेंगे। इसमें 15 विषयों में सामान्य वर्ग के करीब 245 चयनित ऐसे हैं जिनकी उम्र 40 साल से अधिक हो चुकी है। आयुसीमा अधिक होने पर उनकी नियुक्ति की प्रक्रिया रुकी है।


एलटी ग्रेड की भर्ती सबसे पहले 2016 में निकली थी। तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मेरिट के आधार पर 9,300 पदों की एलटी ग्रेड शिक्षक की भर्ती निकाली थी। अभ्यर्थियों से आवेदन ले लिया गया था। लेकिन, 2017 में सूबे की सत्ता बदल गई। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पदों की संख्या बढ़ाकर 10,786 कर दिया। साथ ही उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग को लिखित परीक्षा के आधार पर भर्ती का जिम्मा दिया। इस पर अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल करके बताया कि 2016 की भर्ती पर दोबारा आवेदन लेना अनुचित है। वे एक बार उक्त भर्ती में आवेदन कर चुके हैं। इस पर कोर्ट ने आयोग को उनका आवेदन स्वीकार करने का निर्देश दिया। उस समय अभ्यर्थियों का आवेदन स्वीकार हो गया। परीक्षा में बैठने के बाद उनका चयन भी हो गया। लेकिन, अब उनकी नियुक्ति फंसी है। आयोग के सचिव जगदीश का कहना है कि इस मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट का जो निर्देश होगा उसका पालन किया जाएगा। चयनितों ने कोर्ट में प्रार्थनापत्र देकर मामले का शीघ्र निस्तारण करने की गुजारिश की है। प्रतियोगी मोर्चा के संयोजक विक्की खान का कहना है कि चयनितों को न्याय दिलाने के लिए कोर्ट के साथ सड़क पर आवाज उठाई जाएगी।