Thursday, November 19, 2020

टीजीटी-पीजीटी : चयन के बावजूद कार्यभार ग्रहण न करने पर शासन गम्भीर


टीजीटी-पीजीटी : चयन के बावजूद कार्यभार ग्रहण न करने पर शासन गम्भीर

प्रयागराज : प्रदेश के अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में चयन के बावजूद तैनाती के लिए महीनों से ठोकरें खा रहे प्रशिक्षित स्नातक (टीजीटी) और प्रवक्ता (पीजीटी) 2016 को लेकर शासन गंभीर है। जिलों से ऐसे शिक्षकों की सूची मांगी गई है जो कार्यभार ग्रहण नहीं कर सके हैं। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड ने जुलाई में पैनल जारी किया था लेकिन 125 से अधिक शिक्षक आज तक कार्यभार ग्रहण नहीं कर सके हैं ।

ये स्थिति तब है जबकि शिक्षकों के कार्यभार ग्रहण करने की निगरानी सीधे शासन स्तर से हो रही थी। अपर निदेशक माध्यमिक डॉ महेन्द्र देव ने सभी मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशकों से बुधवार तक यह जानकारी मांगी है कि चयनित शिक्षक किन कारणों से कार्यभार ग्रहण नहीं कर सके हैं और उसके लिए कौन अधिकारी या कर्मचारी उत्तरदायी है। नियुक्ति पत्र जारी न होने पर चयन बोर्ड को समायोजन के लिए पत्र की भी जानकारी मांगी गई है।




अधियाचन ऑनलाइन भेजने के निर्देश

प्रयागराज : सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में टीजीटी-पीजीटी 2020 भर्ती के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश के क्रम में जिन तदर्थ शिक्षकों का अधियाचन बोर्ड को नहीं भेजा गया है, उसे जल्द से जल्द ऑनलाइन माध्यम से भेजने के निर्देश जिला विद्यालय निरीक्षकों को दिए गए हैं। अपर निदेशक माध्यमिक डॉ. महेन्द्र देव ने तदर्थ शिक्षकों की सेवा का सत्यापन करने के भी निर्देश दिए हैं।

Download Govt Jobs UP Official Android App

 

Join Govt Jobs UP Telegram Channel