Saturday, November 7, 2020

उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग के चेयरमैन और सचिव को जान से मारने की धमकी


उत्तर प्रदेश लोकसेवा आयोग के चेयरमैन और सचिव को जान से मारने की धमकी।

उप्र लोकसेवा आयोग के चेयरमैन व सचिव को जान से मारने की धमकी देने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। धमकी आयोग कार्यालय में भेजे गए पत्र के माध्यम से दी गई है। पत्र पर किसी के हस्ताक्षर नहीं हैं। सचिव की ओर से मामले की जानकारी दिए जाने पर एसएसपी ने एलआईयू से जांच कराई। इसके बाद सिविल लाइंस थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया है।


उप्र लोकसेवा आयोग के सचिव जगदीश की ओर से एसएसपी को भेजी गई शिकायत में जिस पत्र का उल्लेख किया गया है वह 12 अक्तूबर को आयोग कार्यालय में पहुंचा था। शिकायत में बताया गया कि साधारण डाक से भेजे गए इस पत्र में किसी के हस्ताक्षर नहीं हैं। हालांकि, पीसीएस 2018 का रिजल्ट फिर से न घोषित किए जाने पर चेयरमैन व सचिव को जान से मारने की धमकी दी गई है। न सिर्फ दोनों अफसरों बल्कि उनके परिवार को भी मारने की बात पत्र में लिखी गई है।


पत्र जिस लिफाफे में भेजा गया, उस पर प्रेषक के रूप में भ्रष्टाचार मुक्ति मोर्चा प्रयागराज लिखा है। आयोग अफसरों की ओर से घटना की शिकायत एसएसपी से की गई, जिसके बाद उन्होंने मामले की जांच कर एलआईयू से तीन दिन में रिपोर्ट मांगी। रिपोर्ट मिलने के बाद उनके निर्देश पर सिविल लाइंस थाने में धमकी समेत अन्य आरोपों में मुकदमा दर्ज किया गया। एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने बताया कि फिलहाल अज्ञात में मुकदमा दर्ज किया गया है। जांच की जा रही है।




पहले भी मिल चुकी है धमकी
उप्र लोकसेवा आयोग अध्यक्ष को धमकी देने का मामला पहले भी सामने आ चुका है। पिछले साल नवंबर में फोन पर धमकी व अभद्रता की गई थी। जिसमें आयोग अध्यक्ष की शिकायत पर सिविल लाइंस थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था। खास बात यह थी कि जिस नंबर से आयोग अध्यक्ष को धमकी दी गई, उसी नंबर से बेसिक शिक्षा परिषद की तत्कालीन सचिव रूबी सिंह को भी धमकाया गया था। 

Download Govt Jobs UP Official Android App