Saturday, October 17, 2020

कोरोना की वजह से टलीं बीटीसी व डीएलएड की परीक्षाएं अब 30 अक्तूबर से होंगी , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

 कोरोना की वजह से टलीं बीटीसी व डीएलएड की परीक्षाएं अब 30 अक्तूबर से होंगी , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




डीएलएड (D.El.Ed) प्रशिक्षण 2019 प्रथम एवं 2018 तृतीय सेमेस्टर की परीक्षाएं मार्च 2020 में प्रस्तावित थीं. लेकिन कोविड 19 (Covid-19) महामारी के कारण परीक्षाएं आयोजित नहीं की जा सकीं. अब इन दोनों परीक्षाओं के कार्यक्रम घोषित किए गए हैं.

डीएलएड प्रशिक्षण 2018 के तृतीय सेमेस्टर और डीएलएड प्रशिक्षण 2019 के प्रथम सेमेस्टर के प्रशिक्षुओं को कक्षोन्नति प्रदान करते हुए अगले सेमेस्टर की परीक्षाएं अक्तूबर में कराए जाने का निर्देश है. इसके तहत बीटीसी 2013 सेवारत (मृतक आश्रित) एवं 2014, 2015, डीएलएड प्रशिक्षण 2017 एवं 2018 प्रथम सेमेस्टर (अवशेष-अनुत्तीर्ण) बैक पेपर की परीक्षाएं 30 अक्तूबर से एक नवंबर तक होंगी. बीटीसी प्रशिक्षण 2013 सेवारत उर्दू (मृतक आश्रित), बीटीसी 2014, 2015, डीएलएड प्रशिक्षण 2017 (अवशेष-अनुत्तीर्ण) बैक पेपर एवं डीएलएड 2018 तृतीय सेमेस्टर की परीक्षाएं 2 नवंबर से 4 नवंबर तक होंगी. बीटीसी 2013 सेवारत (मृतक आश्रित) एवं 2014, 2015, डीएलएड प्रशिक्षण 2017 एवं 2018 द्वितीय सेमेस्टर (अवशेष-अनुत्तीर्ण) बैक पेपर, डीएलएड 2019 द्वितीय सेमेस्टर की परीक्षाएं 5 से 7 नवंबर तक होंगी. बीटीसी प्रशिक्षण 2013, 2014, 2015, सेवारत उर्दू (मृतक आश्रित) बीटीसी, डीएलएड 2017 (अवशेष-अनुत्तीर्ण) बैक पेपर एवं डीएलएड 2018 चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं 9 से 11 नवंबर तक आयोजित कराई जाएगी.

डीएलएड 2018 प्रथम, द्वितीय सेमेस्टर अनुत्तीर्ण एवं तृतीय सेमेस्टर में कक्षोन्नति के बाद चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा में शामिल होने वाले प्रशिक्षुओं में प्रथम सेमेस्टर में अनुत्तीर्ण प्रशिक्षुओं की संख्या 46,732, द्वितीय सेमेस्टर में अनुत्तीर्ण प्रशिक्षुओं की संख्या 57,270, प्रथम एवं द्वितीय सेमेस्टर में उत्तीर्ण प्रशिक्षुओं की संख्या 80,302, कक्षोन्नति हेतु योग्य पाए गए प्रशिक्षुओं की संख्या 79,375 और प्रथम एवं द्वितीय सेमेस्टर में अनुत्तीर्ण के कारण तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा में सम्मिलित होने वाले प्रशिक्षुओं की संख्या 62,542 है.



उल्लेखनीय है कि डीएलएड 2017 की चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं कराते हुए पूर्व में ही परीक्षाफल फरवरी 2020 में घोषित किया जा चुका है. इस प्रकार 2017 बैच नियमित रूप से पूर्ण हो चुका है. इसमें मात्र वे ही परीक्षार्थी बचे हैं जो विभिन्न कारणों से विभिन्न सेमेस्टरों में अनुत्तीर्ण-छूटे हुए हैं. उनके हितों को ध्यान में रखते हुए निर्धारित परीक्षा कार्यक्रम के अनुसार तृतीय सेमेस्टर की परीक्षा सम्पादित कराए जाने के बाद परीक्षाफल घोषित करते हुए अलग से जनवरी 2021 के अंतिम सप्ताह में चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षाएं संपादित कराए जाने का निर्णय लिया गया है.