Tuesday, October 13, 2020

गाजियाबाद में 19 अक्टूबर से फिर खुलेंगे स्कूल, अभिभावकों ने जताया विरोध , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

 गाजियाबाद में 19 अक्टूबर से फिर खुलेंगे स्कूल, अभिभावकों ने जताया विरोध , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




कोरोना संकट के बीच दिल्ली से सटे गाजियाबाद में आगामी 19 अक्टूबर से फिर से स्कूल खोले जाने को लेकर मंगलवार को महात्मा गांधी सभागार में जिलाधिकारी के अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई। इसमें स्कूल खोलने को लेकर खूब रार हुई। प्रशासन ने दो टूक कहा है कि शासन के दिशा निर्देशानुसार 19 अक्टूबर से कक्षा नौ से 12वीं तक विद्यार्थियों के लिए स्कूल खोले जाएं मगर अभिभवक विरोध पर अड़े हैं। यही नहीं कई स्कूल प्रबंधन भी स्कूल खोलने के पक्ष में नहीं हैं।

बैठक में जिलाधिकारी अजय शंकर पाण्डेय ने कहा 19 अक्टूबर से कक्षा नौ से 12वीं तक के स्कूल खोले जाएंगे। स्कूलों में कोरोना संक्रमण के कारण रोस्टर प्रणाली लागू की जाएगी, इसके तहत दो शिफ्ट में पढ़ाई होगी। यानि पचास फीसदी छात्र पहली और पचास फीसदी छात्र दूसरी शिफ्ट में पढ़ाई कर सकेंगे। इसके अलावा सभी कक्षाओं में विद्यार्थियों को उचित दूरी पर बिठाया जाएगा व मास्क और सैनेटाइजर के अलावा थर्मल स्कैनिंग से भी जांच की सुविधा होगी। बैठक के दौरान पेरेंट्स एसोसिएशन ने स्कूल खोलने का पुरजोर विरोध किया। हालांकि, स्कूल फेडरेशन के प्रतिनिधियों ने भी स्कूल न खोले जाने का समर्थन किया तो वहीं कुछ  स्कूल एसोसिएशन ने स्कूल खोलने पर सहमति जताई।

बैठक के दौरान ऑल स्कूल पेरेंट्स एसोसिएशन ने भी स्कूल न खोले जाने की बात कहते हुए कहा कि अगर स्कूल खोलने जरूरी हैं तो फिर स्कूल में आने वाले सभी स्टाफ व बच्चों का 48 घंटों में कोरोना टेस्ट हो जिसकी रिपोर्ट स्कूल वेबसाइट पर अपलोड की जा सके।

वहीं जीपीए के पदाधिकारियों ने स्कूल खोले जाने का विरोध करते हुए कहा कि एक ओर सरकार कोरोना वैक्सीन आने तक कोई ढिलाई देने को तैयार नहीं है तो फिर स्कूल क्यों खोले जा रहे हैं। अगर संक्रमण का खतरा नहीं है तो फिर बच्चों को स्कूल भेजने के लिए अभिभावकों से सहमति पत्र क्यों लिए जा रहे हैं। दो शिफ्ट में पढ़ाई होने से जिस कक्षा के छात्र घर हैं, उनकी ऑनलाइन क्लास की व्यवस्था क्या होगी।

पेरेंट्स एसोसिएशन ने स्पष्ट रूप से कहा है कि स्कूल खोले जाने का विरोध किया जाएगा, अगर इस दौरान किसी भी स्कूल में बच्चे को कोरोना हुआ तो बड़े स्तर पर आंदोलन किया जाएगा। हालांकि, बैठक के दौरान डीएम ने आश्वसत किया है कि स्कूल खोलने के दौरान कोविड नियमों का पूरा पालन किया जाएगा। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जांच की व्यवस्था की जाएगी। बैठक में नगरायुक्त महेन्द्र सिंह तवंर, एडीएम सिटी एसके सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट विपिन कुमार, डीआईओएस रविदत्त, इंडिपेंडेंट्स स्कूल फेडरेशन से सुभाष जैन, पेरेंट्स एसोसिएशन से सीमा त्यागी सहित अन्य प्रतिनिधि मौजूद रहे।