Sunday, September 13, 2020

WEEKLY TOP 10 CURRENT AFFAIRS EVENT'S IN HINDI , 07SEP - 12SEP , CLICK HERE AND READ

WEEKLY TOP 10 CURRENT AFFAIRS EVENT'S IN HINDI  , 07SEP - 12SEP , CLICK HERE AND READ





1.प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण): पीएम मोदी ने 1.75 लाख घरों का किया उद्घाटन
प्रधानमंत्री वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लाभार्थियों से बातचीत की और उन्हें नए घर के बारे में जानकारी भी ली. इस कार्यक्रम में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी मौजूद रहे. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस बार आप सभी की दीवाली, आप सभी के त्योहारों की खुशियां कुछ और ही होगी.

ता दें कि साल 2016 में प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण की शुरुआत की गई थी. देशभर में अब तक 1.14 करोड़ आवास बनाए जा चुके हैं. प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के तहत लाभार्थी को सौ प्रतिशत अनुदान राशि के रूप में 1.20 लाख रुपये दिए जाते हैं.

2.आर्थिक स्वतंत्रता सूचकांक में भारत 105वें स्थान पर, जानें चीन किस स्थान पर
रिपोर्ट के मुताबिक पिछले एक वर्ष में सरकार के आकार, न्यायिक प्रणाली और सम्पत्ति के अधिकार, वैश्विक स्तर पर व्यापार की स्वतंत्रता, वित्त, श्रम और व्यवसाय के विनियमन जैसी कसौटियों पर भारत की स्थिति थोड़ी खराब हुई है. भारत पिछले साल 79वें स्थान पर था.

इस सूची में हांगकांग और सिंगापुर पहले और दूसरे स्थान पर है. सूची में प्रथम दस देशों में न्यूजीलैंड, स्विट्जरलैंड, अमेरिका, आस्ट्रेलिया, मारीशस, जॉर्जिया, कनाडा और आयरलैंड शामिल हैं. जापान को सूची में 20वां, जर्मनी को 21वां, इटली को 51वां, फ्रांस को 58वां, रूस को 89वां और ब्राजील को 105वां स्थान मिला है.

3.पीएम मोदी ने लॉन्च किया मत्स्य संपदा योजना, जानें इसके बारे में सबकुछ
प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं और किसानों से बातचीत भी की. वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये आयोजित इस कार्यक्रम के जरिये प्रधानमंत्री ने मत्स्यपालन तथा पशुपालन क्षेत्र के लिए कई और योजनाओं की शुरुआत की. इस योजना की शुरुआत बिहार से हुई है. इसके साथ ही प्रधानमंत्री मोदी ने मोबाइल ऐप ई-गोपाला का भी शुभारंभ किया.

प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना को देश भर में मछली पालन को बढ़ाने के लिए शुरू किया गया है. इस योजना के तहत अगले 5 सालों लगभग 20,050 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. मछली पालन के क्षेत्र में आजादी के बाद से अब तक का यह सबसे बड़ा निवेश है. प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना से मछली उत्पादन को 150 लाख टन से बढ़ाकर 220 लाख टन तक करना है.

4.नोबेल शांति पुरस्कार 2021 के लिए नामित किए गए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप
यह पहली बार नहीं है जब श्री ट्रम्प को शांति पुरस्कार के लिए नामांकित किया गया है. वर्ष 2018 में, टायब्रिंग-गजेडे ने उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग-उन के साथ अपने सिंगापुर शिखर सम्मेलन के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति का नाम प्रस्तुत किया था. हालांकि, उन्होंने तब यह पुरस्कार नहीं जीता था.

नॉर्वे के इस संसद-सदस्य ने मध्य पूर्व से बड़ी संख्या में सैनिकों को वापस लेने के लिए ट्रम्प की प्रशंसा की है और यह भी उल्लेख किया है कि, उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपतियों की युद्ध शुरू करने या अमेरिका को एक अंतरराष्ट्रीय सशस्त्र संघर्ष में शामिल करने की 39 वर्षीय परंपरा को तोड़ दिया है.

5.भारतीय वायुसेना में शामिल हुआ Rafale, जानिए इसकी खासियत
अंबाला एयरबेस पर राफेल लड़ाकू विमान को वाटर कैनन से सलामी दी गई. फ्लाईपास्ट के शुरू होने के साथ ही 4.5 पीढ़ी का लड़ाकू विमान राफेल आसमान में करतब भी दिखाया. बता दें कि भारतीय वायुसेना में पांच राफेल लड़ाकू विमान शामिल हुए हैं.

फ्रांस से 29 जुलाई को 5 राफेल विमान अंबाल के एयरफोर्स बेस में पहुंचे थे. इनमें तीन सिंगल सीटर और दो ट्विन सीटर जेट हैं. अंबाला एयरबेस में जगुआर और मिग-21 फाइटर जेट भी हैं. इससे लगभग चार साल पहले भारत ने फ्रांस के साथ 59,000 करोड़ रुपये की लागत से ऐसे 36 विमानों की खरीद के लिए अंतर सरकारी समझौते पर हस्ताक्षर किए थे.

6.भारत में 1990 से 2019 के बीच बाल मृत्युदर में आई कमी: UN रिपोर्ट
संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में सचेत किया गया है कि कोविड-19 वैश्विक महामारी वैश्विक स्तर पर बाल मृत्यु में आई कमी की दिशा में दशकों में हुई प्रगति पर पानी फेर सकती है. रिपोर्ट के अनुसार, भारत की बाल मृत्युदर में 1990 से 2019 के बीच काफी कमी आई है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि साल 2019 में पांच साल से कम आयु के जिन बच्चों की मौत हुई, उनमें से आधे बच्चें नाइजीरिया, भारत, पाकिस्तान, कांगो लोकतांत्रिक गणराज्य और इथियोपिया के है. केवल नाइजीरिया और भारत में करीब एक तिहाई बच्चों की मौत हुई.

7.हिमाचल प्रदेश ने रचा इतिहास, नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू करने वाला देश का पहला राज्य बना
हिमाचल प्रदेश की जयराम सरकार ने तत्काल प्रभाव से नई शिक्षा नीति को लागू कर दिया है. हिमाचल प्रदेश सरकार ने नई शिक्षा नीति लागू होने के साथ ही 43 सदस्यों की टास्क फोर्स के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर को दी है.

हिमाचल प्रदेश में नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के लागू होने के बाद यहां शिक्षा में कई अहम बदलाव देखने को मिलेंगे जिसके तहत पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न में भी बदलाव देखे जा सकते हैं. इस मामले में अधिक जानकारी देते हुए शिक्षा सचिव राजीव शर्मा ने बताया है कि इस टास्क फोर्स ने शिक्षा, स्वास्थ्य, तकनीकी शिक्षा, वित्त, युवा और खेल सेवाओं को शामिल किया है.

8.Reliance Retail में 1.75% हिस्सेदारी के लिए 7500 करोड़ निवेश करेगी सिल्वर लेक
इस निवेश के बाद रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड की इक्विटी वैल्यू 4.21 लाख करोड़ रुपये हो जाएगी. सिल्वर लेक रिलायंस रिटेल (RRVL) की सहायक कंपनी रिलायंस रिटेल लिमिटेड भारत के सबसे तेजी से बढ़ रहे रिटेल बिजनेस का संचालन करती है. इससे पहले सिल्वर लेक ने रिलायंस की टेक कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स में भी निवेश किया था.

इस समझौता के बाद रिलायंस रिटेल की मार्केट वैल्यू 4.21 लाख करोड़ रुपये हो जाएगी, इसकी घोषणा कंपनी ने 09 सितंबर 2020 की शेयर बाजार फाइलिंग में की. यह डील इसलिए अहम है क्योंकि भारत में आरआईएल अपने खुदरा व्यापार का विस्तार कर रहा है और उसकी टक्कर अमेजन और फ्लिपकार्ट जैसी महत्वपूर्ण कंपनियों से है.

9.ब्रिटिश प्रसारक डेविड एटनबरो को मिला इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार
इंदिरा गांधी स्मारक न्यास की तरफ से आयोजित डिजिटल कार्यक्रम में एटनबरो को इस पुरस्कार से नवाजा गया. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इस मौके पर कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी एक विकासशील देश के लिए विकास की जरूरत को समझने वाली नेता होने के साथ पर्यावरण संरक्षण की चैम्पियन थीं.

भारत की पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की याद में ‘इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार’ दिया जाता है. यह पुरस्कार उनकी स्मृति में स्थापित 'इंदिरा गांधी मेमोरिल ट्रस्ट' की ओर से दिया जाता है. इंदिरा गांधी शांति पुरस्कार कई विदेशी हस्तियों को भी दिया गया है. ये पुरस्कार शांति, निरस्त्रीकरण, पर्यावरण और सतत विकास के क्षेत्र में काम करने वाली हस्तियों को दिया जाता है.

10.International Literacy Day 2020: जानें क्यों मनाया जाता है विश्व साक्षरता दिवस
विश्व साक्षरता दिवस के दिन लोग एक-दूसरे को इस खास दिन की बधाई देते हैं. इस दिन शिक्षा और उसकी भूमिका के प्रति लोगों को जागरूक किया जाता है कि कैसे यह व्यक्ति, समुदाय और समाज को लाभान्वित कर सकता है. यह दिवस बदलती शिक्षा के दौर में शिक्षकों की भूमिका को सबसे आगे लाने की कोशिश करता है.

पहला विश्व साक्षरता दिवस 8 सितंबर 1966 को मनाया गया था. साल 2009-2010 में सयुंक्त राष्ट्र साक्षरता दशक घोषित किया गया. तब से आज तक पूरे विश्व में 8 सितंबर को विश्व साक्षरता दिवस के रूप में मनाया जाता है. इस दिन यूनेस्को पेरिस स्थित अपने मुख्यालय में अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता पुरस्कार प्रदान करता है.