Tuesday, September 29, 2020

UPSSSC : नई भर्तियों से पहले बताना होगा पद रिक्त होने का क्या है आधार , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

 UPSSSC : नई भर्तियों से पहले बताना होगा पद रिक्त होने का क्या है आधार , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को भर्ती के लिए प्रस्ताव भेजते समय बताना होगा कि रिक्त पद होने का आधार क्या है। नया पद सृजित किया गया है या पुराना है। क्या यह पदोन्नति, सेवानिवृत्ति या अन्य प्रकार से रिक्त हुआ है। आयोग इसके आधार पर प्राप्त होने वाले प्रस्तावों पर ही विचार करेगा।


केवल पद संख्या बताने से नहीं चलेगा काम

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग अभी तक सिर्फ पदों की संख्या और योग्यता के आधार पर भर्तियां करता था, लेकिन अब विस्तृत प्रस्ताव लेगा। मसलन पद स्थाई है या अस्थाई, अधियाचित पद आयोग के अधिकार क्षेत्र में है या नहीं। पद नियमिति नियुक्ति का है। पद की सेवा नियमावली बनी है या नहीं। नहीं तो शासन के प्रशासकीय विभाग के कार्यकारी आदेश क्या हैं। मसलन अर्हता, आयु सीमा आदि की क्या व्यवस्था है। इसका भी अनिवार्य रूप से जिक्र प्रस्ताव में करना होगा।


चयन का आधार क्या होगा

विभागों को यह भी बताना है कि उक्त पदों के चयन का आधार अब तक क्या था। लिखित परीक्षा से भर्तियां होती रही हैं या फिर मेरिट और साक्षात्कार के आधार पर। चयन के लिए यदि अन्य परीक्षा की व्यवस्था है तो इसका भी प्रस्ताव में जिक्र किया जाना जरूरी होगा। यह बताना होगा कि कुल पदों में अनारक्षित कितने होंगे, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, ओबीसी और आर्थिक रूप से कमजोरों के लिए कितने पद होंगे।


भर्ती के लिए कौन पात्र होंगे

प्रस्ताव में यह भी बताना होगा कि परिवीक्षा अवधि कितने साल की होगी। इन पदों के लिए सरकारी कर्मचारी भी क्या पात्र होंगे। अगर पात्र होंगे तो उनके कितने साल की आयु सीमा में छूट मिलेगी और अनुभव का कितना लाभ मिलेगा। इसके अलावा यदि कोई और सेवा-शर्त है तो यह भी बताना होगा। इसके साथ ही प्रस्ताव में यह स्पष्ट उल्लेख करना होगा कि रिक्तियों को लेकर न्यायालय में कोई मामला तो विचाराधीन नहीं है।


Click Here & Download Govt Jobs UP Official Android App