Wednesday, September 9, 2020

UPPSC भर्ती फर्जीवाड़ा :: बाहर से बुलाये गए एक्सपर्ट , पूर्व परीक्षा नियंत्रक से पूछताछ , दिनभर आयोग में डटी रही सीबीआई की टीम , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

UPPSC भर्ती फर्जीवाड़ा :: बाहर से बुलाये गए एक्सपर्ट , पूर्व परीक्षा नियंत्रक से पूछताछ , दिनभर आयोग में डटी रही सीबीआई की टीम , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 





 उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) की परीक्षाओं की जांच कर रही सीबीआई ने अपना शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। कुछ परीक्षाओं के अभिलेखों में गड़बड़ी मिलने के बाद सीबीआई ने पुख्ता सुबूत जुटाने के लिए बाहरी विशेषज्ञों की मदद ली है। मंगलवार को सीबीआई की टीम दिनभर यूपीपीएससी में जुटी रही। इस दौरान एक पूर्व परीक्षा नियंत्रक के साथ कुछ कर्मचारियों से भी पूछताछ की गई। पूछताछ की प्रक्रिया पूरी होने के बाद सीबीआई एक और मुकदमा दर्ज कर सकती है। सीबीआई की टीम को अब तक पीसीएस-2015, एपीएस-2010, आरओ/एआरओ-2013, लोअर-2013, पीसीएस जे-2011 की परीक्षा और मेडिकल अफसर की सीधी भर्ती में गड़बड़ियां मिली हैं। पीसीएस-2015 के मामले में सीबीआई पहले ही मुकदमा दर्ज कर चुकी है। अभ्यर्थियों की शिकायत पर इन परीक्षाओं की जांच के दौरान गड़बड़ी के सुराग मिलने पर सुबूतों को और पुख्ता करने के लिए सीबीआई ने बाहर से एक्सपर्ट बुला लिए हैं। इनमें कुछ शिक्षकों के साथ कंप्यूटर, मार्कशीट आदि से जुड़े एक्सपर्ट शामिल हैं।
अब इन विशेषज्ञों से परीक्षा संबंधी दस्तावेजों की जांच कराई जा रही है। सीबीआई को नंबरों में छेड़छाड़ के सुराग भी मिले हैं। साथ ही कॉपियों में कुछ ऐसे विशेष प्रकार के चिह्न लगे मिले हैं, जिससे अभ्यर्थी की पहचान आसानी से की जा सकती है।
सीबीआई की टीम बाहरी विशेषज्ञों की मदद ने इन्हीं गड़बड़ियों को चिह्नित करते हुए आगे बढ़ रही है। सूत्रों के मुताबिक सीबीआई ने आयोग के एक पूर्व परीक्षा नियंत्रक को भी तलब किया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है। पूर्व परीक्षा नियंत्रक पर परीक्षाओं में गड़बड़ी के गंभीर आरोप लगे हैं। सूत्रों का कहना है कि सीबीआई की टीम मंगलवार सुबह दस बजे ही आयोग पहुंच गई। पूर्व परीक्षा नियंत्रक के साथ कुछ कर्मचारियों से भी देर शाम तक पूछताछ होती रही। इस बीस आयोग ने कई परीक्षाओं से जुड़े दस्तावेज भी खंगाले गए। पूछताछ की प्रक्रिया पूरी होने के बाद सीबीआई की टीम एपीएस-2010 में हुई धांधली के मामले में मुकदमा दर्ज कर सकती है।
कैंप कार्यालय में अभ्यर्थियों ने दर्ज कराई शिकायत
प्रयागराज। तमाम अभ्यर्थी अपनी शिकायत दर्ज कराने मंगलवार को सीबीआई के गोविंदपुर स्थित कैंप कार्यालय भी पहुंचे। हालांकि, टीम सुबह से ही आयोग में थी। ऐसे में अभ्यर्थियों की शिकायत स्वीकार कर ली गई और उन्हें बुधवार सुबह 10 बजे बुलाया गया। पीसीएस-2015 के एक अभ्यर्थी ने स्केलिंग के नाम पर धांधली की शिकायत की। अभ्यर्थी का कहना था कि पीसीएस-2015 में उसका चयन महज एक अंक से रुक गया था।
स्केलिंग के नाम पर कई अंक काट लिए गए थे। अभ्यर्थी का दावा है कि अगर सीबीआई उसकी कॉपियों को निकलवाकर जांच करती है तो कॉपियों में अंकों से छेड़छाड़ के सुबूत मिल जाएंगे। अभ्यर्थी ने समाजकार्य और रक्षा अध्ययन विषय के साथ पीसीएस-2015 की परीक्षा दी थी।