Thursday, September 10, 2020

UPPSC भर्ती घोटाला ::: सीबीआई ने आयोग के चार अपर निजी सचिवों से की लम्बी पूछताछ , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

UPPSC भर्ती घोटाला ::: सीबीआई ने आयोग के चार अपर निजी सचिवों से की लम्बी पूछताछ , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 







उत्तर प्रदेश लोक सेवा की परीक्षाओं की जांच करने शहर पहुंची सीबीआई टीम ने लगातार दूसरे दिन भी गहन पूछताछ की। पहले दिन अभिलेख में गड़बड़ी मिलने के बाद टीम ने बुधवार को आयोग के चार अपर निजी सचिव से कैंप कार्यालय में सुबह से शाम तक पूछताछ की। पता चला है कि चार में से एक निजी सचिव आयोग के एक विवादित सदस्य के साथ था। इस सदस्य की भूमिका को लेकर पूछताछ की गई। इस दौरान सीबीआई की दूसरी टीम ने आयोग के कर्मचारियों से पूछताछ की। छात्रों ने भी सीबीआई अफसरों से मिलकर अपनी बात रखी।
अपर निजी सचिव (एपीएस) परीक्षा में गड़बड़ी की सुई अभी एक दिन पहले मुख्यमंत्री कार्यालय के बर्खास्त अपर निजी सचिव की ओर घूम गई है। पता चला है कि इस अपर निजी सचिव की आयोग के अपने संवर्ग के लोगों से मिलीभगत है। सीबीआई इस बर्खास्त अपर निजी सचिव से भी जल्द ही पूछताछ कर सकती है। सीबीआई की दूसरी टीम ने आयोग के भीतर परीक्षा से जुड़े कर्मचारियों, अधिकारियों से दिनभर पूछताछ करती रही। सीबीआई टीम को अभी तक पीसीएस-2015, एपीएस-2010, आरओ, एआरओ-2013, पीसीएस-2011, पीसीएस जे-2011 और मेडिकल आफिसर की सीधी भर्ती परीक्षा में गड़बड़ी मिली है। पीसीएस-2015 में सीबीआई की ओर से पहले ही मुकदमा दर्ज किया जा चुका है। सीबीआई के अधिकारियों के सवालों का जवाब देने में आयोग के अपर निजी सचिव परेशान रहे।
छात्रों को आश्वासन, जल्द होगा उनके साथ न्याय
सीबीआई कैंप कार्यालय में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की शिकायतों को लेकर छात्रों ने सीबीआई के अधिकारियों से मिलकर अपना पक्ष रखा। छात्रों ने लगातार हो रही देरी पर सवाल उठाए तो सीबीआई के अधिकारियों ने कहा धैर्य रखें, उनके साथ न्याय जल्द न्याय होगा। छात्रों ने सीबीआई अधिकारियों से लगातार जांच में हो रही देरी पर सवाल किए जाने के बाद उन्होंने यह आश्वासन दिया।