Sunday, September 13, 2020

UPPSC ::: पीसीएस 2019 के अभ्यर्थियों के लिए बढे अधिक अवसर , पीसीएस 2018 का रिजल्ट पहले आने से पीसीएस 2019 में कम हुई स्पर्धा , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

UPPSC ::: पीसीएस 2019 के अभ्यर्थियों के लिए बढे अधिक अवसर , पीसीएस 2018 का रिजल्ट पहले आने से पीसीएस 2019 में कम हुई स्पर्धा , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 






 उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (यूपीपीएससी) ने पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा के आयोजन से पहले पीसीएस-2018 का अंतिम चयन परिणाम जारी कर अभ्यर्थियों को बड़ी राहत दी है। पीसीएस मेंस-2019 के अभ्यर्थियों के लिए आगे की राह आसान हो गई है और उनके लिए चयन के अवसर बढ़ गए हैं। पीसीएस-2018 में चयनित हुए बहुत से अभ्यर्थियों ने पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा के लिए भी क्वालीफाई किया है। इनमें से जिन अभ्यर्थियों का चयन एसडीएम, डिप्टी एसपी जैसे उच्च पदों पर हुआ है, वे 2019 की मुख्य परीक्षा में शामिल नहीं होंगे। ऐसे में पीसीएस-2019 के अन्य अभ्यर्थियों के बीच स्पर्धा कम हो जाएगी और उनके लिए चयन के अवसर बढ़ जाएंगे। पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा पहले 25 अगस्त से प्रस्तावित थी, लेकिन बाद में आयोग इस परीक्षा को टाल दिया। मुख्य परीक्षा अब 22 से 26 सितंबर तक प्रयागराज, लखनऊ और गाजियाबाद के विभिन्न केंद्रों में आयोजित की जाएगी।
दरअसल, आयोग ने पीसीएस-2018 के इंटरव्यू का सबसे पहले जो कार्यक्रम जारी किया था, उसके अनुसार साक्षात्कार 13 जुलाई से शुरू होकर सात अगस्त तक चलना था। इस बीच प्रदेश में हर शनिवार एवं रविवार को लॉकडाउन घोषित कर दिया गया, जिसके कारण आयोग को इंटरव्यू का कार्यक्रम संशोधित करना पड़ा। संशोधित कार्यक्रम के बाद पीसीएस इंटरव्यू की अंतिम तिथि 25 अगस्त निर्धारित की गई और 25 अगस्त से ही पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा भी प्रस्तावित थी।
ऐसे में आयोग को पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा टालनी पड़ी, जो अब 22 सितंबर से शुरू होने जा रही है। पीसीएस-2019 के अभ्यर्थी भी लगातार मांग कर रहे थे कि मुख्य परीक्षा पीसीएस-2018 का अंतिम चयन परिणाम जारी होने के बाद आयोजित की जाए। पीसीएस-2018 में एसडीएम के 119 और डिप्टी एसपी के 94 पदों पर चयनित अभ्यर्थियों में बड़ी संख्या ऐसे लोगों की है, जिन्होंने पीसीएस-2019 की मुख्य परीक्षा के लिए भी क्वालीफाई किया है। उनके मुख्य परीक्षा में शामिल होने की उम्मीद बहुत कम है। ऐसे में अन्य अभ्यर्थियों के लिए चयन के अवसर बढ़ गए हैं।