Sunday, September 13, 2020

UPPSC ::: पीसीएस 2018 के तहत प्रधानचार्य के पद पर चयनित 33 अभ्यर्थियों का किया गया प्रोविशनल चयन , अनुभव प्रमाणपत्र देने के बाद ही होगी नौकरी पक्की , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

UPPSC ::: पीसीएस 2018 के तहत प्रधानचार्य के पद पर चयनित 33 अभ्यर्थियों का किया गया प्रोविशनल चयन , अनुभव प्रमाणपत्र देने के बाद ही होगी नौकरी पक्की , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 



पीसीएस-2018 के तहत प्रधानाचार्य के पद पर 33 अभ्यर्थियों का प्रोविजनल चयन किया गया है। इनसे अनुभव प्रमाणपत्र मांगे गए थे, लेकिन ये अभ्यर्थी निर्धारित समय पर प्रमाणपत्र प्रस्तुत नहीं कर सके। अब उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग में प्रमाणपत्र प्रस्तुत किए जाने के बाद ही उनकी नौकरी पक्की होगी।
पीसीएस-2018 की मुख्य परीक्षा में प्रधानाचार्य पद के लिए सफल घोषित किए गए 175 अभ्यर्थियों ने अपने अनुभव प्रमाणपत्र प्रस्तुत तो किए थे, लेकिन प्रमाणपत्र संयुक्त निदेशक शिक्षा द्वारा प्रतिहस्ताक्षरित नहीं थे। आयोग की ओर इन अभ्यर्थियों को निर्देश दिए गए थे कि निर्धारित प्रारूप पर अनुभव प्रमाणपत्र साक्षात्कार के समय जरूर उपलब्ध कराएं, अन्यथा प्रधानाचार्य पद के लिए उनका दावा स्वीकार नहीं किया जाएगा।
इनमें से 33 अभ्यर्थियों को प्रोविजनल रूप से चयनित किया गया है। आयोग के सचिव जगदीश का कहना है कि अभ्यर्थियों की ओर से अनुभव प्रमाणपत्र प्रस्तुत किए जाने के बाद ही उनकी नियुक्ति की संस्तुति की जाएगी। उधर, भ्रष्ष्टाचार मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष कौशल सिंह का कहना है कि अगर कोई अभ्यर्थी प्रमाणपत्र प्रस्तुत नहीं करेगा तो पद खाली रह जाएगा। ऐसे में आयोग को इंटरव्यू से पहले ही सुनिश्चित कर लेना चाहिए था कि अभ्यर्थी अनिवार्य रूप से अनुभव प्रमाणपत्र प्रस्तुत कर दें।