Tuesday, September 8, 2020

यूपी पुलिस सिपाही भर्ती 2018 में सफल अभ्यर्थियों के मेडिकल परीक्षण के पहले दिन प्रयागराज में सामने आया फर्जीवाड़ा , मेडिकल में पास करवाने के नाम पर वसूले 40 हजार रूपये , दीवान गिरफ्तार , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट

यूपी पुलिस  सिपाही भर्ती 2018 में सफल अभ्यर्थियों के मेडिकल परीक्षण के पहले दिन प्रयागराज में सामने आया फर्जीवाड़ा , मेडिकल में पास करवाने के नाम पर वसूले 40 हजार रूपये , दीवान गिरफ्तार , क्लिक करे और पढ़े पूरी पोस्ट 




पुलिस लाइन में चल रही सिपाही भर्ती 2018 के एक अभ्यर्थी से मेडिकल पास कराने के नाम पर 40 हजार रुपये की रिश्वत ली गई। मामला संज्ञान में आने के बाद एसएसपी के निर्देश पर एएसपी ने मौके पर जाकर जांच पड़ताल की तो शिकायत सही मिली। जिसके बाद भर्ती में लगे आरोपी पीटीआई(फिजिकल ट्रेनिंग इंस्ट्रक्टर) समेत दो लोगों पर कर्नलगंज थाने में भ्रष्टाचार अधिनियम का केस दर्ज करा दिया गया। पुलिस ने उसे गिरफ्तार भी कर लिया है। 
पुलिस लाइन में इन दिनों सिपाही भर्ती 2018 के अभ्यर्थियों का मेडिकल परीक्षण कराया जा रहा है। सोमवार दोपहर अफसरों को शिकायत मिली कि भर्ती में मेडिकल पास कराने के नाम पर अभ्यर्थियों से उगाही चल रही है। जिस पर जांच के लिए एएसपी केवी अशोक मौके पर पहुंचे। जांच में शिकायत सही मिली। इस दौरान एक अभ्यर्थी शांतिपुरम राजापुर का रहने वाला राघवेंद्र त्रिपठी भी मिला जिसने मेडिकल के लिए रुपये देने की बात कबूल की। बताया कि अनफिट मिलने पर उसे बाहर कर दिया गया था।
बाद में पीटीआई बृजेंद्र सिंह परिहार व एक अन्य ने उसे पास कराने के लिए 40 हजार रुपये लिए। रकम दो बार में पेटीएम के जरिए खातों में ट्रांसफर की गई। जंाच के बाद एएसपी ने पूरे प्रकरण की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी। अधिकारियों के लिए निर्देश पर कर्नलगंज इंस्पेक्टर अवन कुमार दीक्षित ने मौके पर पहुंचकर आरेापी पीटीआई को हिरासत में ले लिया और थाने ले आए। जहां भर्ती बोर्ड के एसआई बृजेश बहादुर सिंह की तहरीर पर पीटीआई व एक अज्ञात पर मुकदमा दर्ज किया गया। 
निलंबन की कार्रवाई के लिए संस्तुति
रिश्वत लेने का आरोपी दीवान बृजेंद्र सिंह परिहार पीएसी में है और वर्तमान में उसकी तैनाती नैनी स्थित 42 बटालियन में है। पुलिस अफसरों ने बताया कि उस पर निलंबन की कार्रवाई के लिए रिपोर्ट कमांडेंट को भेज दी गई है।