Sunday, September 6, 2020

वीकली टॉप 10 करंट अफेयर्स इवेंट्स ::: 31 अगस्त से 05 सितम्बर 2020 , क्लिक करे और पढ़े

वीकली टॉप 10 करंट अफेयर्स इवेंट्स ::: 31 अगस्त से 05 सितम्बर 2020 , क्लिक करे और पढ़े 





1.Teachers' Day 2020: जानिए इस दिन का इतिहास और महत्व
डॉ. राधाकृष्णन का जन्म 05 सितंबर 1888 को हुआ था. Teacher’s Day 2020 के अवसर पर डॉ. राधाकृष्णन की 132वीं जयंती मनाई जा रही है. डॉ. राधाकृष्णन का मानना था कि शिक्षकों के पास देश का सर्वश्रेष्ठ दिमाग होना चाहिए. साल 1962 से, जिस वर्ष वे भारत के दूसरे राष्ट्रपति बने, शिक्षक दिवस उनके जन्मदिन पर मनाया जाने लगा.

शिक्षक दिवस का उद्देश्य किसी व्यक्ति के जीवन को आकार देने में सभी शिक्षकों के योगदान को महत्व देना है. इस दिन स्कूलों में छुट्टी नहीं होती और छात्रों को स्कूल जाना होता है. हालांकि स्कूल में सामान्य कक्षाओं को उत्सव की गतिविधियों से बदल दिया जाता है और शिक्षकों को उनकी कड़ी मेहनत और छात्र के शैक्षिक जीवन में अंतहीन योगदान के लिए सम्मानित किया जाता है.

2.रूस सरकार का बड़ा फैसला, पाकिस्तान को 'नो आर्म्स सप्लाई' नीति पर कायम
रूस ने यह आश्‍वासन रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के साथ 03 सितम्बर 2020 को बैठक के दौरान दिया. राजनाथ सिंह के साथ बैठक में रूस के रक्षामंत्री जनरल सर्गेई शोइगू ने कहा कि पाकिस्तान को हथियारों की आपूर्ति पर रूसी प्रतिबद्धता भारतीय अनुरोध का पालन करती है.

रूस भारत को सबसे ज्‍यादा हथियारों की आपूर्ति करने वाला देश है. इसमें परमाणु ऊर्जा से चलने वाली सबमरीन शामिल है. रूस ने यह भी कहा है कि वह भारत की व्‍यापक स्‍तर पर सुरक्षा हितों में मदद करेगा. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और रूस के रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शोइगू के बीच बैठक में मास्‍को ने यह आश्‍वासन दिया.

3.भारत और रूस ने फाइनल की AK-203 की डील, अब भारत में इसे तैयार किया जा सकेगा
एके-203 राइफल, एके-47 राइफल का नवीनतम और सर्वाधिक उन्नत प्रारूप है. यह अब इंडियन स्मॉल आर्म्स सिस्टम (इंसास) असॉल्ट राइफल की जगह लेगा. इस सौदे पर एससीओ (शंघाई कॉर्पोरेशन ऑर्गनाइजेशन) समिट के दौरान सहमति बनी. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इस समिट में हिस्सा लेने के रूस में ही मौजूद हैं.

एके-203 राइफल को ऑटोमेटिक और सेमी ऑटोमेटिक दोनों ही मोड पर इस्‍तेमाल किया जा सकता है. इसकी मारक क्षमता 400 मीटर है. सुरक्षाबलों को दी जाने वाली इस राइफल को पूरी तरह से लोड किए जाने के बाद कुल वजन 4 किलोग्राम के आसपास होगा.

4.ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में भारत 48वें स्थान पर
ग्लोबल इनोशन इंडेक्स 2020 में भारत 4 पायदान ऊपर चढ़कर 48वें स्थान पर पहुंच गया है. इस सूचकांक में पिछले साल भारत का स्थान 52वां था. भारत अब शीर्ष 50 उन्नतिशील देशों में शामिल है. मध्य और दक्षिण एशिया में भारत इनोवेशन के मामले में पहले स्थान पर है.

मध्य और दक्षिण एशिया में भारत इनोवेशन के मामले में पहले स्थान पर है. भारत साल 2015 में ग्लोबल इंडेक्स में 81वें स्थान पर था. भारत साल 2016 में 66वें, साल 2017 में 60वें, साल 2018 में 57वें और साल 2019 में 52वें स्थान पर था. भारत ने पहली बार इस साल टॉप-50 में जगह बनाई है. भारत इस साल 48वें स्थान पर है.

5.केंद्र सरकार ने ‘मिशन कर्मयोगी’ को दी मंजूरी, जानें क्या है मिशन कर्मयोगी?
केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर द्वारा कैबिनेट के फैसलों पर मीडिया ब्रीफिंग के दौरान यह घोषणा की गई. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के अनुसार, यह मिशन अधिकारियों और सरकारी कर्मचारियों को उनके क्षमता निर्माण का एक मौका प्रदान करेगा.

कर्मयोगी मिशन योजना सरकार की ओर से अधिकारियों की क्षमता को बढ़ाने की सबसे बड़ी योजना है. मिशन कर्मयोगी का उद्देश्य व्यक्तिगत सिविल सेवकों की क्षमता निर्माण के साथ-साथ संस्थागत क्षमता निर्माण पर ध्यान देना है. मिशन 'कर्मयोगी' के जरिए सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों को अपना प्रदर्शन बेहतर करने का मौका मिलेगा.

6.Adani Green ने विश्व के सबसे बड़े सौर ऊर्जा उत्पादक का दर्जा हासिल किया
मेरकॉम कैपिटल द्वारा वैश्विक सौर कंपनियों की नवीनतम रैंकिंग में अडानी ग्रुप को शीर्ष वैश्विक सौर ऊर्जा उत्पादन कंपनी का दर्जा दिया गया है. मेरकॉम की स्टडी के अनुसार, अडानी ग्रीन का सौर ऊर्जा पोर्टफोलियो अब 12.32 गीगावॉट तक पहुंच चुका है, जो साल 2019 में अमेरिका में इन्सटॉल की गई कुल क्षमता से अधिक है.

गौतम अडानी ने कहा कि उम्मीद करते हैं कि हमारा अक्षय ऊर्जा का प्लेकटफॉर्म हमारे मुख्य व्यवसाय के लिए नई संभावनाएं पैदा करेगा. उन्होंने कहा कि हमें भरोसा है कि यह बिजनेस नए आयामों को हासिल करेगा. कंपनी के चेयरमैन गौतम अडानी ने अनुमान जताया कि आने वाले एक दशक में कई बिजनेस मॉडल्स पर असर पड़ने वाला है क्योंकि नवीकरणीय ऊर्जा का चलन और तकनीक की पकड़ बेहतर होगी.

7.केंद्र सरकार ने PUBG समेत 118 चीनी ऐप्स पर लगाया बैन, यहां देखें पूरी लिस्ट
सरकार द्वारा इस बार जिन चीनी ऐप पर प्रतिबंध लगाया गया है उनमें पबजी के अतिरिक्त लिविक, वीचैट वर्क और वीचैट रीडिंग, ऐपलॉक, कैरम फ्रेंड्स जैसे मोबाइल ऐप शामिल हैं. चीन के साथ तनाव के बीच इन ऐप पर बैन लगना चीन के लिए एक और झटका है. प्रतिबंध की बात करें तो भारत सरकार सीमा विवाद के बीच अबतक कुल 224 चीनी ऐप्स पर बैन लगा चुकी है.

सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने कहा कि उसे विभिन्न स्रोतों से मिली शिकायतों में एंड्रॉयड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कुछ मोबाइल ऐप के दुरुपयोग की रिपोर्ट शामिल हैं. इनमें कहा गया है कि ये ऐप उपयोगकर्ताओं का डाटा चुराकर भारत के बाहर मौजूद सर्वर को अनधिकृत तरीके से भेजते हैं.

8.सुमित नागल ने रचा इतिहास, जीता यूएस ओपन में मेन्स सिंगल्स का पहला मैच
विश्व रैंकिंग में 124वें पायदान पर मौजूद सुमित नागल ने ब्रैडली क्लान को 6-1, 6-3, 3-6, 6-1 से पराजित किया. भारत के टॉप रैंक वाले पुरुष एकल खिलाड़ी सुमित नागल अपने करियर में पहली बार किसी ग्रैंड स्लैम के दूसरे दौर में पहुंचे हैं. नागल ने 1 घंटा 27 मिनट तक चले मुकाबले में ब्रैडली क्लान को शिकस्त दी.

सुमित नागल हरियाणा के झज्जर जिले के जैतपुर गांव से हैं. उन्होंने आठ साल की उम्र में टेनिस खेलना शुरू किया था. सुमित नागल ने साल 2015 में जूनियर विंबलडन ग्रैंड स्लैम जीता और वे इसे जीतने वाले छठें भारतीय बने थे. सुमित का सबसे पसंदीदा टूर्नामेंट यूएस ओपन है और उन्होंने ग्रैंडस्लैम करियर की शुरुआत इसी इवेंट से की थी.

9.सुप्रीम कोर्ट ने टेलीकॉम कंपनियों को दी बड़ी राहत, एजीआर बकाया चुकाने को मिला 10 साल का समय
टेलिकॉम कंपनियों पर कुल 1.47 लाख करोड़ रुपये बकाया हैं. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि 10 साल की राहत देने की ये अवधि 01 अप्रैल 2021 से शुरू होगी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि टेलिकॉम कंपनियों को 31 मार्च 2021 तक एजीआर बकाया के 10 प्रतिशत चुकाने होंगे. वहीं बाकी का पैसा हर साल 7 फरवरी को एक किस्त के रूप में देना होगा.

यह टेलीकॉम यूजर्स के लिए भी अच्छी खबर है, क्योंकि अब टेलीकॉम कंपनियां टैरिफ फिलहाल नहीं बढ़ाएंगी. जस्टिस अरुण मिश्रा 02 सितंबर को ही रिटायर हो रहे हैं. कोर्ट ने कहा था कि यह फैसला तीन आधार पर होगा. टेलीकॉम डिपार्टमेंट ने मार्च में सुप्रीम कोर्ट में एजीआर चुकाने के लिए टेलीकॉम कंपनियों को 20 साल की मोहलत देने की अपील की थी.

10.पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का निधन, 7 दिन के राजकीय शोक
दिवंगत पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के सम्मान में 31 अगस्त से 6 सितंबर तक 7 दिन के राजकीय शोक की घोषणा की गई है. इस दौरान, राष्ट्रीय ध्वज सभी इमारतों पर आधा झुका रहेगा और कोई सरकारी कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएगा. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का राजनीतिक जीवन 40 सालों से भी ज्यादा लंबा रहा है.

साल 2012 में प्रणब मुखर्जी देश के राष्ट्रपति बने थे. वे भारत के 13वें राष्ट्रपति थे. साल 2019 में उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया था. भारत रत्न प्रणब मुखर्जी के जाने पर पूरे देश में शोक की लहर है. नेताओं से लेकर आम जनता उन्हें श्रद्धांजलि दे रही है. राष्ट्रपति को महामहिम कहे जाने की रीति से ऐतराज करने वाले प्रणब मुखर्जी साल 2012 से साल 2017 तक भारत के राष्ट्रपति थे.