Sunday, August 9, 2020

फर्जीवाड़ा : UP B.Ed प्रवेश परीक्षा देते रामपुर में पकड़ा गया सॉल्वर , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

फर्जीवाड़ा : UP B.Ed प्रवेश परीक्षा देते रामपुर में पकड़ा गया सॉल्वर , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




प्रदेश स्तर पर रविवार को हुई बीएड की प्रवेश परीक्षा में रामपुर में परीक्षा देते हुए एक मुन्नाभाई को दबोच लिया गया। दरअसल इसके प्रवेश पत्र पर फोटो किसी परीक्षार्थी का था और नाम किसी और का। कक्ष निरीक्षकों ने जब उससे पूछताछ की तो वह कोई जवाब नहीं दे सका। इसके बाद उक्त परीक्षार्थी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया गया। इस मामले में केंद्र व्यवस्थापक की ओर से पुलिस को तहरीर दी गई है। पुलिस भी मामले की जांच कर रही है। पकड़ा गया युवक मिलक क्षेत्र के ज्योहरा गांव का बताया गया है।

रामपुर में दो परीक्षा केंद्रों पर बीएड प्रवेश परीक्षा का आयोजन किया गया। राजकीय महिला स्नातकोत्तर महाविद्यालय में आयोजित पहली पाली की परीक्षा के दौरान कक्ष संख्या चार में डयूटी कर रहे कक्ष निरीक्षकों को प्रवेश पत्रों की चेकिंग के दौरान एक परीक्षार्थी के प्रवेश पत्र को देखने पर कुछ शक हुआ। उन्होंने परीक्षा दे रहे युवक से पूछताछ की। पूछताछ में उसने खुद को मिलक के ज्योहरा गांव का अंकित कुमार बताया। प्रवेश पत्र पर भी अंकित कुमार नाम लिखा हुआ था, लेकिन उसके प्रवेश पत्र पर फोटो किसी और का लगा हुआ था। हस्ताक्षर भी उसके नहीं थे। हस्ताक्षर किसी उमेश नाम के व्यक्ति के बताए जाते हैं। 

पूछताछ के दौरान मामला गड़बड़ लगने पर मामले की जानकारी कालेज प्रशासन को दी गई। इसके बाद कालेज प्रशासन ने भी उक्त युवक से पूछताछ की। नाम किसी और का और फोटो किसी और का होने पर उसे फर्जी तरीके से परीक्षा देते हुए पकड़ लिया गया। बाद में इसे पुलिस के सुपुर्द कर दिया। इस मामले में केंद्र व्यावस्थापक डा. रजनी रानी की ओर से शहर कोतवाली पुलिस को तहरीर दी गई है। इसमें फर्जी तरीके से युवक पर परीक्षा देने का आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दर्ज करने की गुजारिश की थी। इसके बाद पुलिस ने युवक को हिरासत में लेकर उससे पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।


राजकीय महिला डिग्री कालेज की केंद्र व्यावस्थापक डा.रजनी रानी ने बताया, 'परीक्षार्थी के प्रवेश पत्र पर नाम उसका ही था और फोटो किसी और का लगा हुआ था। साथ ही हस्ताक्षर भी किसी दूसरे के थे। पूछताछ की गई तो युवक जवाब नहीं दे सका। इसके बाद उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया। पुलिस को मामले की तहरीरर दी गई है।'


सीआरपीएफ की भर्ती परीक्षा में भी पकड़े जा चुके हैं फर्जी परीक्षार्थी
रामपुर में पहली दफा फर्जी तरीके से परीक्षा देते हुए परीक्षार्थी को नहीं पकड़ा गया है। इससे पहले भी रामपुर में इस तरह की घटनाएँ हो चुकी हैं। कुछ साल पहले सीआरपीएफ की भर्ती की प्रवेश परीक्षा के दौरान भी इसी तरह की घटना सामने आई थी। भर्ती परीक्षा के दौरान किसी दूसरे के स्थान पर परीक्षा देते हुए तीन लोगों को पकड़ा गया था,जिस पर इस मामले में एफआईआर भी दर्ज कराई गई थी। पुिलस ने इस मामले में कई लोगों को गिरफ्तार किया था। यह मामला कोर्ट में विचाराधीन है।