Friday, August 28, 2020

रेलवे ग्रुप डी के आवेदन निरस्त होने के बाद भटक रहे अभ्यर्थी , पिछले वर्ष देश भर से सवा करोड़ से ज्यादा अभ्यर्थियों ने किया था आवेदन , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

रेलवे ग्रुप डी के आवेदन निरस्त होने के बाद भटक रहे अभ्यर्थी , पिछले वर्ष देश भर से सवा करोड़ से ज्यादा अभ्यर्थियों ने किया था आवेदन , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




रेलवे की नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी (एनटीपीसी) की परीक्षा में पिछले वर्ष आवेदन करने वाले हजारों अभ्यर्थियों के आवेदन निरस्त हो जाने के बाद संशोधन के लिए संबंधित अभ्यर्थी भटक रहे हैं। इन अभ्यर्थियों का कहना है कि पिछले वर्ष उन्होंने आवेदन किया था। लेकिन रेलवे ने हजारों अभ्यर्थियों के आवेदन निरस्त कर दिए। इस बीच जिन अभ्यर्थियों के आवेदन स्वीकृत हुए हैं वह परीक्षा तिथि घोषित करने की मांग कर रहे हैं। बता दें कि पिछले वर्ष मार्च-अप्रैल में ही देश भर में सवा करोड़ से अधिक अभ्यर्थियों ने विभिन्न जोनल रेलवे के ग्रुप डी के एक लाख से अधिक पदों के आवेदन किया था। इसमें से तकरीबन 4.50 लाख आवेदन विभिन्न कारणों से निरस्त कर दिए गए। प्रयागराज से आवेदन निरस्त होने की संख्या तकरीबन पांच हजार बताई जा रही है। हालांकि बाद में बोर्ड की ओर से आवेदन दुरुस्त करने का मौका दिया था, लेकिन अभ्यर्थियों का आरोप है कि तब 50 हजार से आसपास और आवेदन स्वीकृत किए गए।
झूंसी के राकेश यादव ने बताया कि देश भर से काफी संख्या में आवेदन निरस्त होने की वजह से अभ्यर्थियों ने दिल्ली में धरना प्रदर्शन भी किया। इसी तरह रामबाग के मोहित गुप्ता ने बताया कि उन्होंने जब आवेदन किया तो फोटो ठीक ढंग से स्कैन हुई थी, लेकिन बाद में उनका आवेदन फोटो की वजह से ही निरस्त हो गया। इसी तरह बेनीगंज के उत्कर्ष ने बताया कि एक लाख पदों में 4730 पद आरआरबी प्रयागराज के हैं। भर्ती बोर्ड संशोधन का मौका देना नहीं चाहता। हालांकि आरआरबी प्रयागराज के चेयरमैन आरए जमाली का कहना है कि ग्रुप डी परीक्षा के लिए प्रयागराज में कोई फार्म नहीं लिया। ऑनलाइन फार्म सीधे नोडल एजेंसी को भरे गए।