Wednesday, August 5, 2020

बीएड प्रवेश परीक्षा 2020 ::: सीएम , मुख्य न्यायधीश से लगाई परीक्षाएं टलवाने की गुहार , छात्रों ने भेजा ज्ञापन , ट्विटर पर चलाया अभियान , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

बीएड प्रवेश परीक्षा 2020 ::: सीएम , मुख्य न्यायधीश से लगाई परीक्षाएं टलवाने की गुहार , छात्रों ने भेजा ज्ञापन , ट्विटर पर चलाया अभियान ,  क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




 इविवि के छात्र अंशुमान मिश्र का गृह जनपद मिर्जापुर है और उनको बीएड प्रवेश परीक्षा के लिए मुजफ्फरनगर जाना होगा। तेजी से बढ़ रहे संक्रमण के बीच वह मुजफ्फरनगर कैसे जाएंगे? अगर खतरा उठाकर पहुंच भी गए तो रुकेंगे कहां? वहां उनका कोई रिश्तेदार भी नहीं है। एक साल से परीक्षा की तैयारी कर रहे थे, लेकिन परिस्थितियां उन्हें परीक्षा से वंचित कर सकती हैं। यही हाल अन्य अभ्यर्थियों का भी है। मंगलवार को हजारों की संख्या में अभ्यर्थियों और उनके अभिभावकों ने मुख्यमंत्री को ट्वीट एवं री-ट्वीट कर परीक्षा स्थगित करने की मांग की है। वहीं, प्रतियोगी छात्रों ने हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को ज्ञापन प्रेषित करते हुए बीएड प्रवेश परीक्षा और बीईओ प्रारंभिक परीक्षा समेत अगस्त में प्रस्तावित सभी परीक्षाएं स्थगित किए जाने की मांग गुहार लगाई है।
बीएड प्रवेश परीक्षा नौ अगस्त और बीईओ प्रारंभिक परीक्षा 16 अगस्त को प्रस्तावित है। बीएड प्रवेश परीक्षा में तकरीबन साढ़े चार लाख और बीईओ प्रारंभिक परीक्षा में साढ़े पांच लाख अभ्यर्थियों को शामिल होना है। भ्रष्टाचार मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष कौशल सिंह समेत कई प्रतियोगी छात्रों ने मंगलवार को हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश को ज्ञापन प्रेषित करने हुए मामले को संज्ञान में लेने की गुहार लगाई है, ताकि तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के बीच अगस्त में प्रस्तावित परीक्षाओं को टाला जा सके। प्रतियोगी छात्रों का कहना है कि कोरोना संक्रमण प्रतिदिन तेजी से बढ़ रहा है और परीक्षा केंद्र दो-ढाई सौ किलोमीटर दूर बनाए गए हैं।
ऐसे में छात्रों को संक्रमण से बचाने का एकमात्र उपाय है कि बीएड समेत अगस्त में प्रस्तावित सभी परीक्षाएं टाल दी जाएं।
मंगलवार शाम को बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों और उनके अभिभावकों ने ट्विटर पर अभियान चलाया। मुख्यमंत्री को हजारों की संख्या में ट्वीट और री-ट्वीट कर बीएड, बीईओ समेत अगस्त में प्रस्तावित सभी परीक्षाएं स्थगित किए जाने की मांग की गई। वहीं, सीएमपी छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष करन सिंह परिहार ने बीएडी प्रवेश परीक्षा, बीईओ प्रवेश परीक्षा स्थगित किए जाने की कामना के साथ बुद्धि-शुद्धि यज्ञ किया। वहीं, इविवि के पूर्व छात्रसंघ उपाध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस के प्रदेश सचिव विवेकानंद पाठक के नेतृत्व में भी परीक्षा स्थगित किए जाने की मांग को लेकर ट्विटर पर अभियान चलाया गया।