Wednesday, July 8, 2020

UPPSC पीसीएस 2018 :: ऑनलाइन विवरण भर डाउनलोड करे लेटर , आयोग ने अभ्यर्थियों को भेजा SMS , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

UPPSC पीसीएस 2018 :: ऑनलाइन विवरण भर डाउनलोड करे लेटर , आयोग ने अभ्यर्थियों को भेजा SMS  , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 



पीसीएस 2018 का इंटरव्यू कार्यक्रम घोषित होने के साथ ही इंटरव्यू की उलटी गिनती शुरू हो गई। यूं तो पिछले माह मेंस का परिणाम आने के बाद से ही सफल अभ्यर्थी इंटरव्यू की तैयारी में जुट गए थे पर इंटरव्यू कार्यक्रम जारी होने के बाद इनकी तैयारी ने गति पकड़ ली। मंगलवार को आयोग ने सभी सफल अभ्यर्थियों को एसएमएस भेजा। एसएमएस के जरिए अभ्यर्थियों को बताया गया है कि उनका इंटरव्यू कब और किस पाली में होगा।

यह भी कहा गया है कि वे आयोग की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन डिटेल भरने के बाद अपना इंटरव्यू लेटर डाउनलोड कर लें। सिविल सेवा कोच नवीन पंकज कहते हैं कि वेबसाइट पर ऑनलाइन डिटेल भरते वक्त पूरी सावधानी बरतें। अभ्यर्थी इसमें खुद से संबंधित जो भी विवरण दे रहे हैं, उससे जुड़े जितने भी प्रश्न उनके मन में हो सकते हैं, उसे नोट कर उसका उत्तर तैयार कर लें। जितने अधिक प्रश्न तैयार करेंगे, इंटरव्यू के समय पूछे जाने वाले प्रश्नों का उत्तर देने के लिए उतनी ही अधिक जानकारी उपलब्ध होगी। आयोग पीसीएस में सिविल सेवा परीक्षा का पैटर्न पूरी तरह से अपना रहा है, सिविल सेवा परीक्षा में इंटरव्यू से पूर्व अभ्यर्थियों से जो डिटेल एप्लीकेशन फार्म यानी डीएएफ भरवाया जाता है, वह इंटरव्यू बोर्ड के पास होता है और इससे जुड़े तमाम प्रश्न पूछे जाते हैं।

आंशिक संशोधन भी हुआ

आयोग के परीक्षा नियंत्रक अरविंद कुमार मिश्र ने सोमवार को जारी इंटरव्यू कार्यक्रम से जुड़ा शुद्धि पत्र मंगलवार को जारी किया। उन्होंने बताया कि 16 जुलाई को दूसरी पाली में अनुक्रमांक 078081 को 078011 तथा अनुक्रमांक 368807 को 386807 पढ़ा जाए।

टॉपर की सलाह, खुद को जानें

पीसीएस 2017 में तीसरा स्थान प्राप्त करने वाली मीनाक्षी पांडेय कहती हैं कि इंटरव्यू के लिए सबसे जरूरी है खुद को जानना। खुद को जानने से उनका आशय अपने निवास स्थान, राज्य, स्नातक में लिए गए विषयों के साथ ही रुचि के बारे में पर्याप्त जानकारी से है। कहती हैं कि अभ्यर्थियों को अपनी ताकत, कमजोरी के साथ ही अपने नाम के अर्थ और इस नाम से जुड़े व्यक्तित्व के बारे में विस्तार से जानकारी कर लेनी चाहिए। बोर्ड सदस्यों के कई सवाल इसी से जुड़े हुए होते हैं। जिस पद का चयन किया है, उसके बारे में पूरी जानकारी करने के साथ ही उसे चुने जाने की वजह तार्किक और स्पष्ट होनी चाहिए।