Thursday, July 2, 2020

एसएससी सीजीएल 2019 टियर 1 परीक्षा का परिणाम घोषित , 1 . 25 लाख अभ्यर्थी सफल , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

एसएससी सीजीएल 2019 टियर 1 परीक्षा का परिणाम घोषित , 1 . 25 लाख अभ्यर्थी सफल , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




कर्मचारी चयन आयोग( एसएससी) ने संयुक्त स्नातक स्तरीय (सीजीएल) परीक्षा-2019 टियर-1 का परिणाम घोषित कर दिया है। लंबे समय से परीक्षा परिणाम का इंतजार कर रहे अभ्यर्थियों को बड़ी राहत मिली है। सीजीएल परीक्षा में कुल 1,25,279 अभ्यर्थी सफल हुए हैं।
आयोग की ओर से तीन से नौ मार्च 2020 के बीच हुई टियर-1 की परीक्षा में देश भर में कुल 9,78,103 अभ्यर्थी शामिल हुए थे। दूसरे चरण अर्थात टियर-2 और टियर-3 परीक्षा की संभावित तिथि 12 से 15 अक्तूबर 2020 और एक नवंबर 2020 रखी गई है। परीक्षा तिथि पर निर्णय कोविड-19 की परिस्थितियों को देखते हुए लिया जाएगा।


एसएससी की ओर से परिणाम तीन अलग-अलग सूची में जारी किया गया है। पहली सूची में असिस्टेंट ऑडिट ऑफिसर और असिस्टेंट एकाउंट आफिसर के पद के लिए कुल 8951 अभ्यर्थी सफल हुए हैं। दूसरी सूची में जूनियर स्टैटिकल ऑफिसर और स्टैटिकल इनवेस्टिगेटर ग्रेड-2 के लिए कुल 19391 अभ्यर्थी सफल हुए हैं, जबकि तीसरी सूची में दूसरे अन्य पदों के लिए कुल मिलाकर 125279 अभ्यर्थी उत्तीर्ण हुए हैं। सीजीएल टियर-1 परीक्षा में सफल अभ्यर्थी परिणाम आयोग की वेबसाइट पर नंबर सात जुलाई से छह अगस्त 2020 के बीच देख सकते हैं।


एसएससी मध्य क्षेत्र के निदेशक राहुल सचान ने बताया कि पहली सूची में असिस्टेंट ऑडिट ऑफिसर और असिस्टेंट एकाउंट आफिसर पद के लिए सफल 8951अभ्यर्थियों को टियर-2 में पहले, दूसरे और चौथे प्रश्नपत्र की परीक्षा के साथ टियर-3 की परीक्षा देनी होगी। दूसरी सूची में सफल जूनियर स्टैटिकल ऑफिसर और स्टैटिकल इनवेस्टिगेटर ग्रेड-2 पद के लिए कुल 19391 अभ्यर्थियों को टियर-2 में पहले, दूसरे और तीसरे प्रश्नपत्र के साथ टियर-3 की परीक्षा में शामिल होना होगा।

तीसरी सूची में सफल 125279 अभ्यर्थियों को ऑडिट ऑफिसर और असिस्टेंट एकाउंट, जूनियर स्टैटिकल ऑफिसर और स्टैटिकल इनवेस्टिगेटर ग्रेड-2 आफिसर के पदों के अतिरिक्त शेष अन्य पदों के लिए टियर-2 परीक्षा में पहले, दूसरे एवं तीसरे प्रश्नपत्र की परीक्षा में शामिल होना होगा। तीसरी सूची में सफल अभ्यर्थियों को सीधे टियर-2 की परीक्षा के बाद अंतिम चयन हो जाएगा। उन्हें टियर-3 की परीक्षा में शामिल नहीं होना है।