Saturday, June 13, 2020

UPSSSC के सचिव ने बताया VDO और AGTA भर्ती में देरी का कारण , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर

UPSSSC के सचिव ने बताया VDO और AGTA भर्ती में देरी का कारण , क्लिक करे और पढ़े पूरी खबर 




उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UPSSSC) द्वारा आयोजित की जाने वाली एग्रीकल्चर सर्विस टेक्निकल असिस्टेंट क्लास 3 परीक्षा और ग्राम विकास प्राधिकारी परीक्षा के उम्मीदवारों की नियुक्ति अब तक नहीं हो सकी है। हजारों उम्मीदवार कई बार इन मामलों को लेकर ट्विटर पर ट्वीट कर चुके हैं। हमने आयोग के सचिव से इस पर बात की। UPSSSC के सचिव आशुतोष अग्निहोत्री ने नवभारत टाइम्स को बताया, ''कोरोना के कारण वीडीओ का डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन नहीं हो पाया था, जिसके कारण भर्ती पूरी नहीं हो सकी। अब सरकार ने वीडीओ भर्ती की जांच एसआईटी को सौप दी हैं। ऐसे में इस भर्ती का अब क्या होगा, इसको लेकर आयोग की मीटिंग के बाद ऑफिशियल नोटिस वेबसाइट पर जारी किया जाएगा।

वहीं, एग्रीकल्चर सर्विस टेक्निकल असिस्टेंट क्लास 3 परीक्षा पर उन्होंने कहा कि आयोग तेजी से काम कर रहा है और हमारा पूरा प्रयास है कि लंबित भर्तियों को जल्द पूरा किया जाए। रिजल्ट के संबंध में वेबसाइट पर नोटिस जारी कर दिया जाएगा।

सचिव ने कहा कि आयोग की भर्तियों में देरी का कारण कई सर्विस रूल्स का होना हैं। आयोग कई तरह के पदों पर भर्ती निकालता है और इनके लिए लाखों उम्मीदवार आवेदन करते हैं। सभी नियमों को ध्यान में रखकर काम होता है और इसी कारण भर्तियों में समय लगता है।

VDO भर्ती की SIT द्वारा होगी जांच

वीडीओ के 1953 पदों पर हुई भर्तियों की जांच को सरकार ने एसआईटी को सौंप दिया है। सरकार के कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रसाद सिंह उर्फ मोती सिंह ने इस भर्ती पर धांधली का आरोप लगाते हुए इसे रद्द करने की मांग की थी। बता दें कि आयोग ने परीक्षा का रिजल्ट 28 अगस्त 2019 को जारी किया था। रिजल्ट आए 9 महीने हो गए लेकिन आयोग शॉर्टलिस्टेड उम्मीदवारों का डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन नहीं करा पाया। उम्मीदवारों ने नवभारत टाइम्स को बताया था, ''ग्राम पंचायत अधिकारी (VDO) की भर्ती मई 2018 में निकली थी, 2 साल हो गया और अब तक यह भर्ती पूरी नहीं हो सकी। अगस्त 2019 में रिजल्ट आने के बाद से उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन ने एक के बाद एक कई कैलेंडर जारी किए और हर बार डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन की तारीख आगे बढ़ती रही।''